जागरण संवाददाता, अंबाला:

महेशनगर के सरसेहड़ी गांव के पार्क में 16 अगस्त को बालीवाल खेलने को लेकर जफरू के बेटे और ज्ञानचंद के बच्चों के विवाद हो गया। इसके बाद वीरवार सुबह जफरू के घर पर कुछ युवकों ने हमला कर दिया, इसमें परिवार के कई सदस्यों को चोट आई। जब वह दोपहर करीब 12 बजे नागरिक अस्पताल छावनी में मेडिकल कराने पहुंचे तो ज्ञानचंद का बेटा गोलू अपने 10 साथियों के साथ पहुंचा। अस्पताल की पार्किग में बाइक खड़ा करते समय पकड़कर पिटाई शुरू कर दी। इसमें जफरू और उसके बेटे गुलशन को चोटें आई। अस्पताल चौकी के मुलाजिमों ने मौके से हमले में शामिल एक युवक को पकड़ कर रेजिमेंट बाजार पुलिस चौकी को सूचित कर दिया।

जफरू का बेटा गुलशन गांव के पार्क में हो रहे बालीवाल को देखने पहुंचा था। यहां उसका गोलू के साथ किसी बात को कहासुनी हो गई। इसके बाद वीरवार सुबह गोलू अपने भाई और 10 साथियों के साथ पहुंचकर घर पर हमला कर दिया। हमले में घर की युवतियां और महिलाओं को भी चोटें आई। जफरू अपने बेटे गुलशन के साथ महेशनगर थाने में शिकायत करने के बाद मेडिकल कराने के लिए नागरिक अस्पताल पहुंचा ही था कि अचानक गोलू अपने साथियों के साथ पहुंचा और पार्किग में लाठी डंडों से पिटाई शुरू कर दी। इसमें जफरू और गुलशन को चोटें आई जिसे नागरिक अस्पताल के इमरजेंसी में दाखिल करा दिया गया। मौके से अस्पताल चौकी के मुलाजिम ने एक हमलावर को पकड़कर रेजिमेंट बाजार पुलिस चौकी को सुपुर्द कर दिया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Edited By: Jagran