संवाद सूत्र, ठियोग : स्वतंत्रता से जुड़ा ठियोग का जिलास्तरीय रिहाली मेला अब राज्यस्तरीय होगा। मेले में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मेले का दर्जा राज्यस्तरीय करने की घोषणा की। इसके अलावा ठियोग में प्रेमघाट चौक का नाम अटल चौक और उनकी प्रतिमा लगाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार ठियोग उत्सव में आए जयराम ठाकुर का स्थानीय नेताओं, कार्यकर्ताओं और लोगों ने स्वागत किया। मुख्यमंत्री खुली जीप में ऐतिहासिक पोटेटो मैदान पहुंचे जहां मुख्य द्वार पर ठियोग के विधायक राकेश सिघा, नगर परिषद के अध्यक्ष विवेक थापर, उपाध्यक्ष रीना शर्मा सहित सभी पार्षदों ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। नगर परिषद की ओर से मुख्यमंत्री को सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस मौके पर 13 योजनाओं को जनता को समर्पित किया और नौ नए कार्यो के शिलान्यास किए। इन सभी उद्घाटन व शिलान्यास की पट्टिकाओं में विधायक राकेश सिघा का नाम नदारद रहा। सभी ने प्रजामंडल के स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी और मेले में लगाई गई प्रदर्शनियों का अवलोकन किया। मुख्यमंत्री ने ठियोग के लोगों को आजादी के प्रतीक के रूप में मनाए जाने वाले हरियाली उत्सव की बधाई दी। उन्होंने मेला कमेटी को दो लाख रुपये देने का भी ऐलान किया।

मुख्यमंत्री ने ठियोग अस्पताल के बने भवन के पहले चरण का लोकार्पण भी किया। इस मौके पर शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप, विधायक बलबीर वर्मा, एपीएमसी अध्यक्ष नरेश शर्मा, जिलाध्यक्ष अजय श्याम, चेतन बरागटा सहित भाजपा के जिला, मंडल और प्रदेश पदाधिकारी मौजूद रहे। मतियाना और बड़ा गांव को उपतहसील का दर्जा देने की उठी मांग

एपीएमसी अध्यक्ष नरेश शर्मा ने मंच पर मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए मतियाना और बड़ा गांव को उपतहसील का दर्जा देने की मांग रखी। विधायक राकेश सिघा ने ठियोग के स्वतंत्रता के इतिहास को बताते हुए प्रजामंडल के स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया। विधायक ने मुख्यमंत्री से सेब की खेती को बचाने के लिए कदम उठाने की मांग की।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट