कुलदीप शुक्ला, चंडीगढ़। Chandigarh Traffic Rules: सिटी ब्युटीफुल चंडीगढ़ में कुछ महीने पहले ही ड्राइविंग संबंधी कई नियम बदल गए हैं। इस तरह अलग अलग सड़कों पर अलग स्पीड लिमिट भी लागू की गई हैं। इसी तरह ही शहर में ट्रैफिक नियमों में लगातार बदलाव होता रहता है।

अब तो पूरे शहर में सीसीटीवी कैमरों से आनलाइन चालान हो रहे हैं। सबसे ज्यादा चालान ओवर स्पीड के हो रहे हैं। इसकी वजह यह है कि वाहन चालकों को शहर की सड़कों पर स्पीड लिमिट की पूरी जानकारी नहीं है। क्यों चंडीगढ़ की अलगअलग सड़कों पर अलग अलग स्पीड लिमिट है।

वाहन चालक अगर अभी भी पुरानी स्पीड लिमिट के हिसाब से ही ड्राइविंग करते हैं तो यह भारी पड़ने वाला है। इससे मोटा जुर्माना और चालान होगा। दरअसल प्रशासन ने वाहनों की गति सीमा में अप्रैल 2022 से बदलाव किया है। यह बदलाव चंडीगढ़ में लागू भी हो चुका है। अब ट्रैफिक पुलिस नए नियमों के तहत ही चालान कर रही है। जबकि कई जगह अभी साइन बोर्ड नहीं लगने या कई जगह दूसरे राज्यों के लोगों की नजर साइन बोर्ड पर नहीं पड़ने से उन्हें स्पीड लिमिट की जानकारी नहीं मिलती हैं।

गूगल मैप करेगा वाहन चालकों की मदद

ऐसे में गूगल मैप वाहन चालकों की मदद करेगा और गूगल मैप के माध्यम से चंडीगढ़ की सभी सड़कों के अलग-अलग स्पीड लिमिट की जानकारी अपडेट होती रहेगी। गूगल मैप चंडीगढ़ के अलग-अलग सड़कों पर स्पीड लिमिट को दर्शाने के साथ रफ्तार ज्यादा होने पर इंडिकेट भी करता है। इस तरह आपके वाहन की स्पीड बढ़ेगी उस तरह में पर अंकित ब्लैक लाइन रेड लाइन की तरफ ऊपर चढ़ती जाएगी। एक समय पर निर्धारित गति सीमा से ज्यादा होने पर वह वाहन चालक को इंडिकेट भी करेगी।

अलग-अलग वाहनों के लिए अलग अलग स्पीड लिमिट

नए नियमों के मुताबिक 8 लोगों तक की क्षमता वाले वाहनों को डिवाइडर वाली सड़क पर अधिकतम 60 किमी प्रति घंटा।  शहर की अंदरूनी सड़कों (सिंगल रोड) पर 50 किमी और सेक्टर के अंदर की सड़कों पर 40 किमी की रफ्तार तय की गई है। नौ लोगों से अधिक की क्षमता वाले वाहन डिवाइडर वाली सड़क पर 50 किमी और सिंगल रोड व सेक्टर के अंदर की सड़क पर 40 किमी की रफ्तार से चल सकते हैं।

सेक्टरों के अंदर अलग स्पीड लिमिट

दोपहिया और तीन पहिया वाहन डिवाइडर वाली सड़क पर 45 किमी, सिंगल व सेक्टरों के अंदर वाली सड़क पर 40 किमी की रफ्तार से चल सकते हैं। इसके अलावा व्यावसायिक वाहन के लिए डिवाइडर वाली सड़क पर 50 किमी, सिंगल रोड व सेक्टरों के अंदर वाली सड़क पर 40 किमी की रफ्तार तय की गई है।

जुलाई तक 92 हजार से ज्यादा आनलाइन चालान

बता दें कि चंडीगढ़ में 27 मार्च 2022 को सेक्टर-17 स्थित इंटिग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आइसीसीसी) का केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने उद्घाटन किया था। तब से 20 जुलाई तक सीसीटीवी कैमरों के जरिए 92,667 आनलाइन चालान काटे जा चुके हैं। इनमें 57,197 ओवर स्पीड और 34,770 रेड लाइट जंप के चालान शामिल हैं।

ओवर स्पीड पर लगेगा मोटा जुर्माना

रेड लाइट जंप करने पर 1000 रुपये का चालान और ड्राइविंग लाइसेंस सस्पेंड। ओवरस्पीड का पहली बार में एक हजार रुपये का चालान, दूसरी बार में दो हजार और तीसरी बार में 5 हजार का चालान। इसके बाद चालान पर ड्राइविंग लाइसेंस डिसमिस।

Edited By: Ankesh Thakur