विकास शर्मा, चंडीगढ़। चंडीगढ़ में भी इंडियन प्रिमियम लीग (IPL) की धूम मचेगी। आगामी आइपीएल सीजन-16 की मेजबानी के लिए चंडीगढ़ के साथ लगते न्यू चंडीगढ़ के मुल्लांपुर में नया क्रिकेट स्टेडियम लगभग तैयार हो चुका है। महाराजा यादविंद्र सिंह क्रिकेट स्टेडियम मुल्लांपुर के तोगा और तीरा गांव बनाया गया है। इस क्रिकेट स्यटेडियम का निर्माण कार्य 90 से 95 फीसद पूरा हो चुका है। यह ट्राईसिटी का तीसरा इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम है। पीसीए मोहाली, चंडीगढ़ सेक्टर-16 क्रिकेट स्टेडियम के बाद यह तीसरा क्रिकेट ग्राउंड है जहां इंटरनेशनल लेवल के मुकाबले होंगे। 

महाराजा यादविंद्र सिंह क्रिकेट स्टेडियम में छह स्टैंड बनाए गए हैं, जिसमें 34 हजार के करीब दर्शक मैच देखने का लुत्फ उठा सकेंगे। 8 लाख स्क्वायर फीट में बना यह स्टेडियम मोहाली के आइएस बिंद्रा स्टेडियम से तीन गुणा बड़ा है। इस स्टेडियम का निर्माण कार्य वर्ष 2017 में शुरू हुआ था, लेकिन कोविड की वजह से इसके निर्माण कार्य में देरी हुई। पिछले दो साल से स्टेडियम में पंजाब इंटर ड्रिस्टिक्ट क्रिकेट टूर्नामेंट आयोजित करवाए जा रहे हैं।

पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के चीफ आपरेटिंग आफिसर (सीईओ) दीपक शर्मा का कहना है कि हम फरवरी 2023 में इस नए क्रिकेट स्टेडियम का उद्घाटन करेंगे। हमारी कोशिश यही है कि अगले आइपीएल सीजन के कुछ मैच हम इसी स्टेडियम में करवाएं। पीसीए ने आइपीएल के सीनियर अधिकारियों से इसको लेकर बातचीत भी शुरू कर दी है। पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन का यह नया स्टेडियम कई वजहों से बेहद खास है।

तेज बारिश के बाद भी आधे घंटे में होगी पिच तैयार

न्यू चंडीगढ़ के मुल्लांपुर स्थित इस नए क्रिकेट स्टेडियम में खास ड्रेनेज सिस्टम लगाया गया है। तेज बारिश होने के बावजूद मैदान की पिच को आधे घंटे में खेलने के लिए तैयार किया जा सकता है। दर्शकों को धूप और बारिश से बचाने के लिए इस स्टेडियम में खास तौर रूफ शीट्स लगाई जा रही हैं। रेन वाटर हार्वेस्टिंग से पानी की आपूर्ति की जाएगी, इसके अलावा इस्तेमाल किए गए पानी को भी दोबारा इस्तेमाल किया जाएगा।

सोलर सिस्टम से होगी बिजली की आपूर्ति

इस स्टेडियम में खास बात यह है कि इसकी ढांचागत बिजली की आपूर्ति के लिए सोलर सिस्टम लगाया जाएगा, जोकि तमाम बिल्डिंग की बिजली जरूरतों को पूरा करेगा। खास बात यह है कि इसमें पीसीए मोहाली की तरह 18 फ्लड लाइट्स नहीं लगेंगी, इसमें 4 से 6 हाई पावर फ्लड लाइट्स लगाई जा रही हैं।

दर्शकों को पार्किंग की नहीं होगी दिक्कत

इस स्टेडियम में 1640 कारों की पार्किंग व्यवस्था है, इसके अलावा बसों व दोपहिया वाहनों की पार्किंग की अलग से व्यवस्था है। ऐसे में जितने भी दर्शक मैच देखने आएंगे, उन्हें वाहन पार्क करने में कोई दिक्कत नहीं होगी। बता दें आइएस बिंद्रा स्टेडियम मोहाली में कार पार्किंग की सबसे बड़ी समस्या है।

स्टेडियम में बनाए गए हैं 30 कारपोरेट

मुल्लांपुर क्रिकेट स्टेडियम में दर्शकों के आराम का पूरा ध्यान रखा गया है। इसमें खासतौर पर 30 कारपोरेट बाक्स बनाए गए हैं। ऐसे कारपोरेट बाक्स अभी तक इंडिया के किसी भी क्रिकेट स्टेडियम में नहीं है। हर कारपोरेट बाक्स में 60 सीटें होंगी। ऐसे में बड़े-बड़े कारपोरेट घराने के लोग अपने लिए 10 से 20 सालों में तक इन कारपोरेट बाक्स को बुक करवा सकते हैं।

Edited By: Ankesh Thakur