नहीं मना स्वतंत्रता दिवस का जश्न, जांच होगी

जागरण संवाददाता, कोटद्वार: कोटद्वार नगर निगम की लापरवाह कार्यशैली ने आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह को फीका कर दिया। क्षेत्र के तमाम छोटे-बड़े विद्यालयों में भले ही समारोह भव्य तरीके से आयोजित हुआ हो। लेकिन, नगर निगम की ओर से कोई ऐसे कार्यक्रम नहीं किए गए, जिनकी आमजन के साथ ही स्कूली बच्चों को भी प्रतीक्षा थी। इधर, डीएम ने इस मामले को गंभीर बताते हुए जांच के आदेश दिए हैं। कोरोना संक्रमण के चलते पिछले दो वर्षों से स्वतंत्रता दिवस समारोह महज औपचारिकता तक सिमटा हुआ था। इस मर्तबा जिस तरह आजादी के अमृत महोत्सव के तहत लगातार आयोजन हो रहे थे, आमजन को स्वतंत्रता दिवस समारोह के भव्य होने की उम्मीद थी। क्षेत्रवासी को उम्मीद थी कि कोरोना काल से पूर्व के आयोजनों की भांति नगर निगम तमाम विद्यालयों को मार्च पास्ट व सांस्कृतिक आयोजन के लिए आमंत्रित करेगा। लेकिन, ऐसा न हुआ। नगर निगम की ओर से विद्यालयों को कोई निमंत्रण नहीं भेजा गया। बीते वर्षों तक स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार करने के लिए माह के प्रथम सप्ताह में बाकायदा नगर निगम विद्यालयों व क्षेत्र के गणमान्य व्यक्तियों की बैठक बुलाकर तैयारियों पर चर्चा करता था। लेकिन, इस मर्तबा ऐसा भी नहीं हुआ। नतीजा, पिछले दस दिनों से मार्च पास्ट व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की तैयारियों में जुटे स्कूली बच्चों को मायूस होना पड़ा। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. लल्लूमल अग्रवाल के पुत्र कुलदीप अग्रवाल ने भी नगर निगम की इस कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाते हुए मुख्यमंत्री को पत्र भेजा। पत्र में स्पष्ट कहा गया है कि किन कारणों के चलते नगर निगम ने ध्वजरोहण से पूर्व नगर में प्रभातफेरी नहीं करवाई। उन्होंने मामले की जांच करवा कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। क्षेत्र में हर्षोल्लास से मना स्वतंत्रता दिवस स्वतंत्रता दिवस क्षेत्र के तमाम सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मुख्य आयोजन मालवीय उद्यान में हुआ, जहां महापौर हेमलता नेगी ने ध्वज फहराया। तहसील परिसर में गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजेंद्र अण्थ्वाल ने ध्वज फहराया। इससे पूर्व, क्षेत्र के तमाम विद्यालयों ने अपने-अपने सेवित क्षेत्रों में प्रभातफेरी निकाल देशभक्ति के नारे लगाए। जयहरीखाल, रिखणीखाल, नैनीडांडा, द्वारीखाल, पोखड़ा, वीरोंखाल प्रखंडों में भी तमाम विद्यालयों व कार्यालयों में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ध्वज फहराया गया व विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। .......................................................... मामला बेहद गंभीर है। स्वतंत्रता दिवस समारोह को भव्य तरीके से मनाने के निर्देश दिए गए थे। बावजूद इसके कार्यक्रम को लेकर लापरवाही किया जाना गंभीर है। पूरे मामले की जांच करवाई जाएगी। डा. विजय कुमार जोगदंडे, जिलाधिकारी, पौड़ी

Edited By: Jagran