कोलकाता, राज्य ब्यूरो। सीबीआइ अब मवेशी तस्करी मामले में गिरफ्तार तृणमूल नेता अनुब्रत मंडल की पुत्री सुकन्या मंडल को भी तलब कर सकती है। सुकन्या के नाम से दो कंपनियों का भी पता चला है। सीबीआइ को संदेह है कि अनुब्रत मवेशी तस्करी का पैसा अपनी पुत्री की कंपनियों तथा उसके व अन्य 15 लोगों जो उनके काफी घनिष्ठ थे, के बैंक खातों में स्थानांतरित करते थे। सीबीआइ सुकन्या के बैंक खातों को खंगाल रही है।

सीबीआइ ने अनब्रत मंडल के कर्मचारियों की संपत्ति के स्रोत की जांच पहले ही शुरू कर दी है। इस बार वे तृणमूल नेता की बेटी की संपत्ति के स्रोत को देखना चाहते हैं। सूत्रों के मुताबिक सीबीआइ इस हफ्ते अनुब्रत की बेटी सुकन्या को तलब कर सकती है। 10 संपत्तियां पहले से ही जांच अधिकारियों की निगरानी में हैं। उनके बारे में जानकारी जुटा रहे हैं। अनुब्रत ने अपनी पत्नी की बीमारी के इलाज पर काफी पैसा खर्च किया था। सीबीआइ इसकी भी जांच कर रही है कि यह पैसा कहा से आया।

गौरतलब है अनुब्रत की पुत्री सुकन्या मंडल के नाम पर दो कंपनियों का पता चला है, जो एग्रो केमिकल व निर्माण के व्यवसाय से जुड़ी हैं। केंद्रीय जांच एजेंसी को संदेह है कि मवेशी व कोयला तस्करी तथा रेत खनन का पैसा इन कंपनियों में निवेश किया जाता था। सीबीआइ अब इसकी जांच पड़ताल शुरू करने की तैयारी कर रही है। बीरभूम में अनुब्रत की अनेक चावल मिलों तथा मत्स्य पालन केंद्रों के बारे में पता चला है। मवेशी तस्करी मामले में दाखिल अपने आरोपपत्र में सीबीआइ ने अनुुब्रत मंडल से जुड़ी कुल 45 संपत्तियां का पता चलने का दावा किया है। इनमें कई संपत्तियों के मालिक अनुब्रत व उनके बाडीगार्ड सहगल हुसैन संयुक्त रूप से हैं। इसके अलावा अनेक संपत्तियां अनुब्रत के परिवार के सदस्यों के नाम पर है। अकेले अनुब्रत के नाम पर भी कई संपत्तियां हैं।

Edited By: Sumita Jaiswal