बलरामपुर, जागरण संवाददाता। तुलसीपुर के पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष फिरोज पप्पू की हत्या की साजिश में जेल में बंद पूर्व सपा सांसद रिजवान जहीर व उनके दामाद रमीज नेमत की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। तुलसीपुर थाना की पुलिस ने 10 माह पहले हुई घटना का संज्ञान लेकर पूर्व सांसद व उनके दामाद के खिलाफ जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है।

यह है पूरा मामला : बीते चार जनवरी को तुलसीपुर नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन फिरोज पप्पू की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने मामले में तीन मुख्य आरोपितों के साथ पूर्व सांसद रिजवान जहीर, उनकी बेटी जेबा रिजवान व दामाद रमीज को साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया था। जेबा की जमानत हो चुकी है। पूर्व सांसद व उनका दामाद अभी जेल में है।

यूपी का टाप टेन अपराधी : रिजवान को जिला कारागार बलरामपुर से ललितपुर व दामाद को आगरा शिफ्ट कर दिया गया है। प्रशासन ने पूर्व सांसद को यूपी का टाप-टेन अपराधी घोषित कर उनकी करीब 16 करोड़ की चल अचल संपत्ति भी जब्त की है।

गला दबाने का आरोप : प्रभारी निरीक्षक अवधेश राज सिंह ने बताया कि तुलसीपुर नगर निवासी अब्दुल महमूद खां ने 13 अगस्त को तहरीर देकर आरोप लगाया है कि पूर्व सांसद ने उसकी जमीन कब्जा कर ली थी। करीब 10 माह पूर्व वह जमीन खाली कराने के संबंध में पूर्व सांसद से मिलने गया था। पूर्व सांसद व उनके दामाद ने अभद्रता करते हुए गला दबा दिया। सीने से बंदूक सटाकर जान से मारने की धमकी दी। पीड़ित की तहरीर पर पूर्व सांसद व उनके दामाद के खिलाफ जानलेवा हमले का केस दर्ज कर लिया गया है।

Edited By: Anurag Gupta