-मैंने 2022 में स्नातक किया है, लेकिन मैं अब निर्णय नहीं कर पा रहा हूं कि आगे बैंकिंग या एसएससी में से किसकी तैयारी करूं?

-विजय पाल, ईमेल से

किसी को देखकर या दूसरों से प्रभावित होकर करियर का कोई क्षेत्र चुनने के बजाय अपने भीतर झांके। इस बात पर मंथन करें कि स्वयं आपकी सबसे अधिक रुचि किस क्षेत्र में है? वह कौन-सा क्षेत्र या विषय है, जो आपको सर्वाधिक आकर्षित करता है और आप उससे संबंधित काम करना पसंद करेंगे? यदि आपने अब तक इस दृष्टि से विचार नहीं किया है, तो अभी देर नहीं हुई है। आप ठहरकर सोचेंगे, तो आपको रास्ता समझ में आने लगेगा। अपनी रुचि/पसंद से संबंधित करियर चुनेंगे, तो आप न केवल उत्साह के साथ तैयारी कर सकेंगे, बल्कि उसमें सफलता की संभावना भी अधिकतम होगी। इस बारे में परिजन से विचार विमर्श करना भी उपयोगी हो सकता है।

-मैंने बीएड और सीटीईटी कर रखा है। पीसीएस परीक्षा की भी तैयारी कर रहा हूं। कृपया मार्गदर्शन करें कि दोनों में बेहतर क्या होगा या फिर दोनों साथ में करें?

-आशीष भालोटिया, ईमेल से

बीएड और सीटीईटी के माध्यम से अध्यापन पेशे में अपना स्थान सुरक्षित करते हुए आप इसके साथ-साथ भी पीसीएस की तैयारी को आगे बढ़ा सकते हैं। इसके लिए आपको समय प्रबंधन पर ध्यान देते हुए सही दिशा में नियमित तैयारी करनी होगी।

-कृपया बताएं कि मैं नेट/जेआरएफ एमए के विषय से करूं या एमएड से? किसमें अधिक स्कोप है?

-अर्चित सिंह, ईमेल से

आप नेट/जेआरएफ उत्तीर्ण करके अध्यापन में करियर बनाना चाहते हैं, तो बेहतर होगा कि आप उस विषय का चयन करें, जिसमें आपकी सबसे अधिक रुचि हो। एक बार असिस्टेंट प्रोफेसर बन जाने के बाद आगे तरक्की के लिए शोध और लेखन के लिए लगातार पढ़ने की आवश्यकता होती है। ऐसे में यदि आपकी पसंद का विषय होगा, तो आप उत्साह के साथ हमेशा आगे बढते रह सकते हैं।

 अरुण श्रीवास्‍तव

वरिष्‍ठ करियर काउंसलर

Edited By: Nandini Dubey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट