कानूनों में फंस गया ईंट उद्योग, हड़ताल का एलान

संस, बिंदकी : गैर जरूरी कानून थोपे जाने से ईंट उद्योग बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। ईंट उद्योग को बचाने के लिए उद्यमियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल का एलान कर दिया है। निर्णय लिया कि इस वर्ष ईंट-भट्ठा संचालित नहीं होंगे। मांग किया कि सरकार ईंट उद्योग से जुड़े व्यवसायियों की बात सुने और समस्या का निराकरण करें।

उत्तर प्रदेश ईंट निर्माता समिति की बिंदकी इकाई की एसएस गार्डेन फरीदपुर रोड में जिले भर के ईंट-भट्ठा व्यावसायियों की बैठक हुई। इसमें लागू नियमों का विरोध किया गया। प्रदेश मंत्री राधे मिश्रा ने कहाकि ईंट-भट्ठों पर मिट्टी निकालने जो नियम लगाए गए। वह खदानों पर लागू होते हैं। ऐसे ही नियमों के कारण ईंट व्यवसाय संकट में आ गया है। बैठक में सर्वसम्मति से ईंट भट्ठा न संचालित करने का निर्णय लिया गया। कहा, हड़ताल में सभी शामिल होंगे। बैठक में ईंट निर्माता समिति कानपुर नगर के उपाध्यक्ष राकेश वर्मा, जिलाध्यक्ष फतेहपुर छत्रपाल सिंह भदौरिया, महामंत्री पप्पू तिवारी, बिंदकी अध्यक्ष वेद प्रकाश वर्मा, अमन उमराव, प्रभू दयाल वर्मा, सुरेश वर्मा, संजय गुप्ता, अतहर, शहीद अहमद, राजेश वर्मा, अविनाश सिंह, सुरेश वर्मा, प्रमोद शुक्ला, अनिल शुक्ला, विमलेश तिवारी, रमनजीत सिंह सहित अन्य ईंट भट्ठा व्यवसायी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran