कौशांबी, जागरण संवाददाता। मूर्ति विसर्जन के दौरान बुधवार को बलहेपुर गांव में मधुमक्खियों ने श्रद्धालुओं पर हमला बोल दिया। इससे दर्जनों लोग घायल हो गए। लोगों ने भागकर किसी तरह अपनी जान बचाई। घायलों का नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया। कुछ देर बाद मधुमक्खियां शांत हुईं, तो यात्रा आगे बढ़ी और मूर्ति का विसर्जन किया गया।

प्रतिमा लेकर बगीचे में पहुंचे तभी टूट पड़ीं मधुमक्खियां

बलहेपुर की ग्राम प्रधान अनीता देवी के दरवाजे पर दुर्गा पंडाल लगाया गया था। बुधवार को मंजीत यादव, अशोक कुमार, रंजीत, बन्ने, अजीत आदि विसर्जन के लिए प्रतिमा लेकर निकले। जैसे ही यात्रा गांव के बाहर महुआ के बाग में पहुंची, तभी डीजे की धमक से भड़कीं मधुमक्खियां श्रद्धालुओं पर टूट पड़ीं। इससे लोगों में भगदड़ मच गई।

दुधमुंही बच्ची समेत दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल

इस बीच मधुमक्खियों के काटने से एक दुधमुंही बच्ची समेत सीना, अनीता, रोशनी, मनीषा, नेहा, सुषमा, रंगीता, रुद्रावती यादव, अशोक यादव समेत दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। साइकिल सवार एक अन्य राहगीर भी गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे तिल्हापुरमोड़ के अरमान अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बाकी लोगों ने अपना उपचार नजदीकी क्लीनिकों से कराया। कुछ देर बाद मधुमक्खियां शांत हुईं तो यात्रा आगे बढ़ी। मधुमक्खियों के हमेल की यह घटना आज गुरुवार को दिन भर चर्चा का विषय बनी रही।

Edited By: Ankur Tripathi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट