जागरण संवाददाता, मनाली : मनाली के सोलंग गांव में बैली ब्रिज एक महीने में बनकर तैयार हो जाएगा। मनाली में पत्रकारों से बातचीत में शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा कि अस्थायी पुल टूटने से हुई दो बच्चों की मौत दु:खद व दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। प्रभावित परिवार को हुए नुकसान की भरपाई नहीं की जा सकती। सरकार हमेशा प्रभावित परिवार के साथ खड़ी है। कांग्रेस के नेता प्राकृतिक आपदा में भी राजनीति से बाज नहीं आ रहे। सोलंग गांव के ग्रामीणों की समस्या जायजा है। सोलंग के भोले भाले लोगों को भड़काया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि 2010 में विधायक निधि में ही सोलंग पुल स्वीकृत करवाया था। लंबे समय बाद भी पुल तैयार न होना दुर्भाग्यपूर्ण है। समय पर पुल न बनने का दोषी ठेकेदार है, सरकार नहीं। छाकी व जगतसुख पुल भी इसी ठेकेदार के कारण देरी से तैयार हो रहे हैं। सोलंग गांव के ग्रामीणों का गुस्सा जायजा है। प्रदेश सरकार उनके दु:ख दूर करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। उपायुक्त ने दिया ग्रामीणों की समस्या के जल्द समाधान का भरोसा

मामले की गंभीरता को देखते हुए बुधवार को उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग ने घटनास्थल का दौरा किया। ग्रामीणों ने शांतिपूर्वक तरीके से नाराजगी जगाई और अनदेखी करने का आरोप भी लगाया। ग्रामीणों का कहना था कि पुल बनाने वाला ठेकेदार घटिया सामग्री इस्तेमाल कर रहा है। पुल बनने से पहले ही पिल्लर से सरिये दिखने लगे हैं। उपायुक्त ने कहा कि लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता ने पुल की गुणवत्ता को लेकर जांच के आदेश दे दिए हैं। जल्द ही ब्यास नदी पर बैली ब्रिज तैयार करने व उनकी समस्याओं का समाधान भरोसा दिया। कनिष्ठ अभियंता संघ ने शुरू की कलम छोड़ हड़ताल

संवाद सहयोगी, कुल्लू : सोलंग गांव में लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से दु‌र्व्यवहार से नाराज कनिष्ठ अभियंता संघ कुल्लू ने कलम छोड़ हड़ताल शुरू कर दी है। संघ के महासचिव अनूप शर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में सोलंग के ग्रामीणों द्वारा अधिकारियों के साथ किए दु‌र्व्यवहार को असहनीय बताया गया। संघ ने निर्णय लिया है कि जब तक दोषियों पर कार्रवाई नहीं होती हड़ताल जारी रहेगी। राज्य स्तर पर भी एक दिन की सांकेतिक हड़ताल की जाएगी। इसके बावजूद कार्रवाई नहीं हुई तो आगे की रणनीति तैयार की जाएगी। अधिकारियों की सुरक्षा के लिए उचित कार्रवाई होना अनिवार्य है।

इस अवसर पर संजीव शर्मा, तिलक राज, लेस राम, डोले राम, शालेंद्र, हरिश कुमार, विजय कुमार, नरेश कुमार, प्रेम सिंह, जेसी राणा, विवेक, सुरेश, नवीन, अक्षय, योगेश, भारत, नरेश आदि पदाधिकारी व सदस्य मौजूद रहे।

Edited By: Jagran