बांदा, जागरण संवाददाता। Banda Murder News प्रेम प्रसंग के चलते तीन माह से लापता नगर पालिका के संविदा सफाई कर्मी की कुल्हाड़ी से बोटी-बोटी काटकर हत्या कर दी गई। हत्यारों ने वारदात को अंजाम देने के बाद शरीर के अवशेष व कपड़ों को जंगल में नदी के पास जमीन में गाड़ दिया था।

पुलिस ने दो आरोपितों को हिरासत में लेते हुए जमीन खोदवाकर हड्डियां बरामद की। स्वजन ने कपड़ों से उसकी पहचान की है। आक्रोशित स्वजन ने डीएम कार्यालय जाकर पुलिस पर लापरवाही करने व हत्यारोपितों के धमकाने का आरोप लगाया। हत्यारों को फांसी की सजा दिलाने की मांग उठाई है।

त्रिवेणी गांव निवासी गंगादीन का 22 वर्षीय पुत्र धीरू शहर के नगर पालिका में संविदा सफाई कर्मी था। पिता के मुताबिक वह 13 मई को वार्ड नंबर 15 मर्दननाका ड्यूटी करने गया था। वहां से छुट्टी के बाद शाम पांच बजे वह घर जाने की जगह लापता हो गया था। पिता ने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

स्वजन ने अनहोनी की आशंका जाहिर करते हुए उसका मर्दननाका मोहल्ले की एक विवाहिता से प्रेम-प्रसंग होने की पुलिस को जानकारी दी थी। जिसमें पुलिस लापता सफाई कर्मी की तलाश कर रही थी।

सीओ सिटी राकेश कुमार सिंह, कोतवाली निरीक्षक राजेंद्र सिंह राजावत, मर्दननाका चौकी इंचार्ज अनिल सिंह ने विवाहिता के पति व भाई को पकड़कर कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गए। पति व भाई की निशानदेही पर

पुलिस ने पड़ुई गांव के नजदीक गंगापुरवा के गांव बाहर जंगल में केन नदी के नाले किनारे जमीन में दफन व नाले से दिवंगत सफाई कर्मी धीरू के शरीर की कुछ हड्डियां व कपड़े बरामद किए हैं।

दिवंगत के पिता व मां राजाबाई समेत अन्य स्वजन ने कपड़ों से उसकी पहचान की। उनका आरोप है कि प्रेमिका ने फोनकर उसे बुलाया है। इसके बाद उसके पति, दो भाइयों व पिता ने उसकी कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी है।

पीड़ित परिवार ने कलेक्ट्रेट जाकर मर्दननाका चौकी इंचार्ज पर तीन माह तक सही से खोजबीन न करने का आरोप लगाते हुए आक्रोश जताया है।

डीएम व एसपी से आरोपित पुलिस कर्मियों व हत्यारोपितों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। जिससे उन्हें सही न्याय मिल सके। मां व अन्य स्वजन का रो-रोकर बुराहाल है। सीओ सिटी ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है। जल्द ही घटना का राजफाश किया जाएगा।

Edited By: Abhishek Agnihotri