अलीगढ़, जागरण संवाददाता।  Aligarh News : बजरंगदल कार्यकर्ताओं ने शनिवार को प्रधान की गिरफ्तारी को लेकर मडराक थाने का घेराव करते हुए जमकर हंगामा किया। थाने में एक पुलिसकर्मी द्वारा बजरंगदल के कार्यकर्ताओं को बंदूक दिखाने पर नोंकझोंक भी हुई।

छह सितंबर की घटना

Madrak police station area गांव घासीपुर में 6 सितंबर सोमवार की रात को community specific लोगों द्वारा प्राचीन पथवारी मंदिर पर लघुशंका कर माहौल खराब करने का प्रयास किया गया था। सूचना पर अगले दिन मंगलवार को बजरंगदल के सैकड़ों लोगों ने गांव घासीपुर में मंदिर के सामने बैठकर Demonstration किया था और ग्राम प्रधान की गिरफ्तारी करने के लिए jam on agra road लगा दिया था। विशेष समुदाय के लोगों को पथवारी मंदिर में लघुशंका करते हुए गांव के मनीष वार्ष्णेय व दिनेश उपाध्याय ने देख लिया विरोध करने पर दिनेश को लाठी डंडे से पीटा गया था।

प्रधान सहित चार पर मुकदमा 

पुलिस ने इस मामले में प्रधान सहित चार लोगों के खिलाफ case registered कर नईम पुत्र अहमद रजा व इलियास पुत्र रहमान निवासीगण घासीपुर समेत दो को जेल भेजा था। शनिवार को बजरंगदल के महानगर संयोजक भारत गोस्वामी के नेतृत्व में कई कार्यकर्ता मडराक थाने पहुंच गए और प्रधान अल्वी मुफीद की गिरफ्तारी करने के लिए थाने का घेराव करते हुए जमकर हंगामा किया। थाने में एक पुलिसकर्मी द्वारा बजरंगदल के कार्यकर्ताओं को बंदूक दिखाने पर कार्यकर्ता भड़क गए और थाना परिसर में पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए।

गिरफ्तारी के आश्‍वासन पर शांत हुए लोग

सूचना पर CO Ashok Kumar पहुंच गए और ग्राम प्रधान की गिरफ्तारी करने का आश्वासन देकर लोगों को शांत किया। वहीं घासीपुर के शादिक पुत्र रहमान ने बताया गांव में उनके घर की छत के ऊपर से प्रधान बिजली का तार जा रहा है। तार हटाने की बात प्रधान से कही तो उसके साथ व पत्नी बेटी के साथ मारपीट कर दी।

इसे भी पढ़ें : Agniveer Bharti 2022: रैली में स्टेराइड की डोज लेकर पहुंचे 115 युवा, चल रही अब हर अभ्यर्थी की जांच

Edited By: Anil Kushwaha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट