रामपुर, जागरण संवाददाता। Child died during Delivery:  मिलक तहसील क्षेत्र में प्रसव के दौरान बच्चे की मृत्यु हो गई। इस पर स्वजन ने अस्पताल में हंगामा काटा। इसके बाद स्वजन मृत नवजात का शव लेकर कोतवाली पहुंचे। सरकारी अस्पताल के कर्मचारी पर जानबूझकर प्राइवेट अस्पताल भेजने और प्राइवेट अस्पताल के चिकित्सकों पर डिलीवरी के दौरान लापरवाही बरतने के कारण शिशु की मृत्यु होने का आरोप लगाते हुए कोतवाली में तहरीर दी।

गंगापुर शर्की निवासी महिलाएं और ग्रामीण शुक्रवार की सुबह कोतवाली पहुंचे। महिलाओं की गोद में मृत शिशु का शव था। लता देवी ने पुलिस को बताया कि उसकी पुत्र वधू करीना को प्रसव पीड़ा होने पर वह गुरुवार की सुबह 11 बजे नगर के सरकारी अस्पताल लेकर आए थे। यहां चिकित्सक ने आपरेशन बताकर दूसरे अस्पताल ले जाने की सलाह दी।

तब सरकारी अस्पताल के ही एक कर्मचारी ने बिलासपुर मार्ग स्थित एक प्राइवेट अस्पताल भेज दिया। वहां डाक्टर ने कुछ कागजों पर अंगूठे लगवाकर आपरेशन शुरू कर दिया। आपरेशन को बीच में ही छोड़कर डाक्टर ने हाथ खड़े कर दिए। दूसरे अस्पताल में ले जाने को कहने लगे। इस पर परिवार की महिलाएं आपरेशन कक्ष में गई तो उनके होश उड़ गए।

प्रसूता बेसुध पड़ी थी। बच्चा आधा बाहर निकला था और उसकी मृत्यु हो चुकी थी। स्वजन का आरोप है कि लापरवाही से नवजात की मृत्यु हुई है, जबकि प्रसूता की हालत गंभीर है। कोतवाल सत्येंद्र कुमार सिंह ने बताया कि तहरीर मिल गई है। जांच के बाद पुलिस विधिक कार्रवाई करेगी।

Edited By: Vivek Bajpai