जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: तीन दिन पूर्व एक जनसभा में केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह द्वारा चुनाव के समय पार्टी गतिविधियों में संलिप्त रहे लोगों को 'जयचंद' कहकर संबोधित करने के बाद अहीरवाल की राजनीति में उबाल आया हुआ है। वर्षों बाद भी रेवाड़ी शहर की दुर्दशा बरकरार है, मगर जनप्रतिनिधि व चुनावी तैयारियों में जुटे लोग एक दूसरे को दोषी ठहरा कर बयान दाग रहे हैं। नेताओं की बात अपनी जगह, मगर मजेदार बात यह है कि हरियाणा राजपूत प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष नरेश चौहान एडवोकेट ने तो जयचंद को महाराजा बताकर राव से ही माफी मांगने के लिए कहा है। उन्होंने राव को जयचंद की जगह मीर जाफर का उल्लेख करने की नसीहत दी है।

----------

कटवा नेता बने हुए है कापड़ीवास व सतीश यादव: सुनील मुसेपुर

रेवाड़ी: भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुनील मुसेपुर ने कहा कि रेवाड़ी शहर की दुर्दशा के लिए पिछले 50 साल तक सत्ता में रहा परिवार है। वह बृहस्पतिवार को सेंडपाइपर में पत्रकारवार्ता में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि कैप्टन अजय सिंह यादव तीस साल तक सत्ता में मंत्री पद पर रहे। इससे पहले उनके पिता राव अभय सिंह ने 15 साल तक राज किया। अब उनके बेटे चिरंजीव विधायक है। 50 साल तक राज करने के बावजूद रेवाड़ी के विकास के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि पूर्व विधायक रणधीर सिंह कापड़ीवास व सतीश यादव दोनो कैप्टन अजय सिंह यादव के लिए वोट कटवा नेता बने हुए है। कैप्टन के कहने पर वोट काटने के लिए चुनाव लड़ते रहे और मात्र 26 प्रतिशत वोट से कैप्टन अजय सिंह को जिताते रहे। चुनाव में जीत हासिल होते ही चिरंजीव राव सबसे पहले रणधीर सिंह कापड़ीवास के घर ही मिठाई लेकर पहुंचे थे।कापड़ीवास के नकारा होने पर ही पार्टी ने उनका टिकट काटा था।पार्टी ने कसौटी पर खरा उतरने पर ही उन्हें न केवल टिकट दिया था, बल्कि खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा व मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रचार के लिए पहुंचे थे।विरोधियों द्वारा उनके खिलाफ साजिशें भी रची जा रही है।

-------------

भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही है जनता की कमाई: सतीश यादव

रेवाड़ी: पूर्व जिला प्रमुख सतीश यादव ने कहा कि जिस तरह से शहर की वर्षा के दौरान शहर की दुर्दशा दिखाई दे रही है, उससे करोड़ों रुपये के विकास के दावे खोखले साबित हो रहे है। जनता के खून पसीने कमाई भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही है।शहर में चारों ओर गंदगी का माहौल है और सड़के टूटी हुई है। नगर परिषद चेयरपर्सन ने चुनाव में जो दावे किए थे, सभी खोखले साबित हुए।नेहरू पार्क का ठेका 13 लाख रुपये में का छोड़ा गया है। घास की कटाई के नाम पर 13 लाख रुपये का भुगतान किस के हस्ताक्षर से हो रहा है, इसकी जांच होनी चाहिए। चेयरपर्सन को केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह का आशीर्वाद प्राप्त है। सांसद को सामने आकर जनता को जवाब देना चाहिए और भ्रष्टाचार करने वालों पर कार्यवाही करें।

-----------

भाजपा में राव को नहीं मिल रही तवज्जो: चिरंजीव

रेवाड़ी: विधायक चिरंजीव राव ने कहा कि केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह चुनाव के समय चौधर की बात कर जनता की भावनाओं के साथ खेल वोट हथियाने का तरीका है। जनता के दुख-दर्द से उनका कोई मतलब नहीं है। जनता को ऐसे नेताओं को पहचाने जो सिर्फ चुनाव के समय नजर आते है। राव इंद्रजीत सिंह को भाजपा में तवज्जो नहीं मिल रही।पिछले चुनाव में उनकी बेटी की टिकट काट दी गई। उसके बाद भूपेंद्र यादव को केंद्रीय मंत्री बना दिया और अब पूर्व सांसद सुधा यादव को केंद्रीय संसदीय कमेटी में ले लिया गया। यह सब राव इंद्रजीत सिंह को पच नही रहा है, इसलिए अब वे किसी अन्य पार्टी में जाना चाह रहे है।

------------

माफी मांगें राव: नरेश चौहान

रेवाड़ी: हरियाणा राजपूत प्रतिनिधि सभा ने केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह द्वारा भाजपा की गुटबाजी में महाराजा जयचंद के नाम का नकारात्मक ²ष्टि से इस्तेमाल कर सामाजिक सौहार्द को क्षति पहुंचाने की संज्ञा देकर निदनीय बताया है। सभा के अध्यक्ष एडवोकेट नरेश चौहान ने कहा कि सम्राट पृथ्वीराज चौहान और महाराजा जयचंद के संबंधों को वामपंथी इतिहासकारों ने गलत ढंग से पेश किया है। सम्राट पृथ्वीराज चौहान की हार के महाराजा जयचंद जिम्मेवार नहीं थे। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई ने स्वयं सार्वजनिक रूप से खुलासा किया था कि उस हार का पूरा समाज जिम्मेदार था। राव ने राजपूत मतदाताओं का निरादर किया है और उन्हें माफी मांगनी चाहिए।

Edited By: Jagran