आगरा, जागरण संवाददाता। शहर में मानसून के सीजन में हवा अच्छी स्थिति में बरकरार है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार के अनुसार मंगलवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) 47 रहा, जो सोमवार के एक्यूआइ 23 से अधिक था। अावास विकास कालोनी में वायु गुणवत्ता सर्वाधिक स्वच्छ रही।

शहर में मनोहरपुर दयालबाग, सेक्टर तीन-बी आवास विकास कालोनी व शाहजहां गार्डन में वायु गुणवत्ता अच्छी स्थिति में और शास्त्रीपुरम में मध्यम स्थिति में दर्ज की गई। संजय प्लेस स्थित आटोमेटिक मानीटरिंग स्टेशन लगातार छठे दिन बंद रहा। रोहता स्थित मानीटरिंग स्टेशन ने भी मंगलवार को काम नहीं किया। इससे दोनों स्टेशनों पर वायु गुणवत्ता की स्थिति की जानकारी नहीं मिल सकी। मनोहरपुर दयालबाग में धूल कण, आवास विकास कालोनी, शास्त्रीपुरम व शाहजहां गार्डन में हवा में घुली ओजोन कणों की मात्रा अधिक रही। सीपीसीबी की गाइडलाइन के अनुसार हवा में घुली अति सूक्ष्म कणों की मात्रा 60 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर और धूल कणों की मात्रा 100 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए।

मानीटरिंग स्टेशनों पर स्थिति

स्टेशन, रविवार, सोमवार, मंगलवार

संजय प्लेस, -, -, -

मनोहरपुर दयालबाग, 15, 22, 16

आवास विकास कालोनी, 14, -, 13

शास्त्रीपुरम, 104, 21, 110

रोहता, 30, 23, -

शाहजहां गार्डन, 32, 26, 49

स्टेशनों पर प्रदूषक तत्वों की स्थिति

प्रदूषक तत्व, न्यूनतम, अधिकतम, औसत

मनोहरपुर दयालबाग

कार्बन मोनोआक्साइड, 1, 2, 2

नाइट्रोजन डाइ-आक्साइड, 8, 11, 10

सल्फर डाइ-आक्साइड, 15, 16, 15

ओजोन, 2, 7, 5

अमोनिया, 4, 5, 4

अति सूक्ष्म कण, 1, 20, 9

धूल कण, 2, 101, 16

सेक्टर तीन-बी आवास विकास कालोनी

कार्बन मोनोआक्साइड, 4, 18, 7

नाइट्रोजन डाइ-आक्साइड, 1, 13, 4

सल्फर डाइ-आक्साइड, 11, 13, 12

ओजोन, 2, 52, 12

अमोनिया, 2, 4, 2

अति सूक्ष्म कण, 2, 39, 10

धूल कण, 5, 34, 12

शास्त्रीपुरम

कार्बन मोनोआक्साइड, 10, 15, 13

नाइट्रोजन डाइ-आक्साइड, 6, 15, 8

सल्फर डाइ-आक्साइड, 15, 15, 15

ओजोन, 25, 155, 93

अति सूक्ष्म कण, 1, 14, 6

धूल कण, 3, 37, 12

शाहजहां गार्डन

कार्बन मोनोआक्साइड, 8, 22, 15

नाइट्रोजन डाइ-आक्साइड, 2, 10, 5

सल्फर डाइ-आक्साइड, 9, 26, 17

ओजोन, 7, 230, 60

अमोनिया, 2, 11, 7

अति सूक्ष्म कण, 1, 15, 6

धूल कण, 3, 49, 11 

Edited By: Prateek Gupta