राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में मवेशी तस्करी मामले में सीबीआइ द्वारा हाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के बाहुबली नेता अनुब्रत मंडल की गिरफ्तारी के बाद मचे घमासान के बीच पूर्व बर्द्धमान जिला पुलिस ने गुरुवार को 50 गायों के साथ नौ तस्करों को गिरफ्तार किया है।

चोरी-छिपे किया जा रहा था तस्करी

मवेशी तस्करी मामले में सीबीआइ की कार्रवाई के बीच पुलिस द्वारा इतनी बड़ी संख्या में गायों की जब्ती व नौ लोगों की गिरफ्तारी से हड़कंप मच गया। पुलिस के अनुसार, इन गायों को चोरी-छिपे दो वाहनों पर लादकर अवैध तरीके से बीरभूम से बर्द्धमान की तरफ लाया जा रहा था, तभी केतुग्राम थाना पुलिस ने सुबह पकड़ा।

पुलिस ने नौ लोगों को किया गिरफ्तार

दोनों वाहनों समेत मवेशियों को जब्त करने के साथ पुलिस ने वाहन पर सवार सभी नौ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार लोगों से प्राथमिक पूछताछ के बाद पुलिस ने बताया कि सभी गायों को ये लोग बीरभूम के नानूर इलाके से सड़क मार्ग से केतुग्राम के पाचुंदी मवेशी बाजार (हाट) में बेचने के लिए लेकर जा रहे थे। तभी गुप्त सूचना के आधार पर विशेष अभियान चलाकर पुलिस ने निरोल ग्राम के पास सभी को पकड़ लिया। पुलिस के अनुसार, इनके पास कोई उपयुक्त कागजात नहीं मिला। पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।

बाहुबली नेता की हुई थी गिरफ्तारी

सीबीआइ ने इससे पहले मवेशी तस्करी मामले में गिरफ्तार तृणमूल के बाहुबली नेता व बीरभूम जिलाध्यक्ष अनुब्रत मंडल व उनके करीबियों के यहां से 17 करोड़ रुपये का फिक्स्ड डिपाजिट जब्त किया है। सीबीआइ की टीम ने बुधवार को मंडल तथा उनके करीबियों के यहां मैराथन तलाशी अभियान चलाया था। मंडल के करीबियों के बैंक खातों में करोड़ों रुपये जमा होने का पता चला है। इसके अलावा इनके यहां से 16.97 करोड़ रुपये का फिक्स्ड डिपाजिट जब्त किया है। इस बाबत जांच अधिकारियों ने बोलपुर स्थित सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक को इस बारे में सूचित कर दिया है। अधिकारियों बैंक खातों को फ्रिज कर दिया है। सीबीआइ अधिकारियों का मानना है कि मवेशी तस्करी के वैसे को ही फिक्स्ड डिपाजिट किया गया है।

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट