पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Politics: महागठबंधन सरकार में राजद (RJD) ने डेढ़ दशक बाद जनाधार विस्तार के साथ ही कई नए विभाग जदयू से लिया है। इसमें मुख्य रूप से सीधे तौर पर शहरी जनता के रोजमर्रा के कामकाज से जुड़े हुए विभाग नगर विकास विभाग है। पिछली महागठबंधन सरकार में भी राजद के पास शिक्षा, नगर विकास और ग्रामीण कार्य विभाग नहीं था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 2004 के बाद पहली बार राजद को नगर विकास और शिक्षा जैसे विभाग दिए हैं। 

नगर निकाय चुनाव संपन्‍न कराने की चुनौती 

बतौर नगर विकास मंत्री तेजस्वी यादव के सामने नगर निकाय चुनाव संपन्न कराना बड़ी चुनौती है। यही नहीं, बेहतर काम के जरिए राजद के लिए भाजपा के आधार वोट बैंक में पैठ बढ़ाने का मौका है। वहीं, जदयू से शिक्षा विभाग लेने के पीछे भी तेजस्वी यादव द्वारा 2020 के चुनाव में समान काम के बदले समान वेतनमान शिक्षकों को देने जैसे बड़े वादे को पूरा करना है। राजनीतिक जानकारों को अनुसार चुनाव के दौरान शिक्षकों ने एकजुट होकर तेजस्वी यादव की सरकार बनाने के लिए मतदान किया था। परिणाम भी राजद के पक्ष शानदान रहा था। वर्तमान में यही वजह है कि राजद वर्तमान में सबसे बड़ा दल है। गांव से लेकर शहर की सड़कों का निर्माण और रख-रखाव जैसे विभाग काम भी पूरी तरह से उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपने पास रखा है। 

तेजस्वी की घोषणा को पूरा करेगी सरकार : शिवानंद

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार की नई सरकार को शुभकामना दी है। मंत्रिमंडल विस्तार के बाद उन्होंने कहा कि नीतीश-तेजस्वी सरकार (Nitish-Tejashwi Government) का गठन हो गया। इस सरकार ने बहुत उम्मीदें पैदा कर दी हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में राजद ने जो वादा किया था, उसे पूरा करेंगे। तेजस्वी यादव की इस घोषणा के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का 15 अगस्त के अवसर पर इसका समर्थन ने बिहार के युवाओं में उम्मीद और उत्साह पैदा किया है। बिहार समेत पूरा देश बहुत उम्मीद के साथ इस सरकार को देख रहा है। हम सबकी शुभकामनाएं और सहयोग इस सरकार के साथ है। 

Edited By: Vyas Chandra