स्वतंत्रता दिवस पर मंडल कारा से एक बंदी को किया गया मुक्त

- आजादी के अमृत महोत्सव पर मंडल कारा में सजायाफ्ता बंदी की आधी सजा हुई माफ

- रूस्तम खान सहित तीन बंदी हुए 12वीं उत्तीर्ण

जासं, सिवान: आजादी के 75वीं वर्षगांठ पर अमृत महोत्सव के मौके पर सिवान मंडल कारा में बंद एक संसीमित सजावार बंदी को भी तोहफा मिला है। अच्छे आचरण के साथ-साथ सजा का 50 प्रतिशत हिस्सा भुगत चुके बंदी को 15 अगस्त पर सौगात देते हुए उसे मुक्त कर दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मंडल कारा परिसर में ध्वजारोहण किया गया। इसके बाद बंदी को मंडल कारा से मुक्त कर दिया गया। इस संबंध में बंदी के परिजनों को पूर्व में ही सूचना दे दी गई थी। सरकार के निर्देशानुसार विशेष परिहार का लाभ देकर मंडल कारा में संसीमित सजावार बंदी बसंतपुर थाना क्षेत्र के कोड़र गांव निवासी आस मोहमद के पुत्र मो. सेराजुद्दीन को कारामुक्त किया गया। मंडल कारा अधीक्षक संजीव कुमार ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस पर कारा में बंदियों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम, गायन, खेलकूद इत्यादि का भी आयोजन किया गया। बंदी सेराजुद्दीन जून 2018 से 366 ए धारा में मंडल कारा में बंद था। उसने 30 माह 14 दिन की सजा भी भुगत ली है।

-

रूस्तम खान सहित तीन बंदी हुए 12वीं उत्तीर्ण

मंडल कारा अधीक्षक संजीव कुमार ने बताया कि मंडल कारा में राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान (एनआईओएस ) का केंद्र संचालित है। इसके माध्यम से बंदियों को निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराया जा रहा है। जिसके अंतर्गत दसवीं उत्तीर्ण तीन बंदियों क्रमश: पुन्यदेव यादव ,कृष्णा कुमार, शुभम कुमार तथा 12 वीं उत्तीर्ण तीन बंदियों रूस्तम खान, सीमांत कुमार एवं सुरेश कुमार को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

Edited By: Jagran