नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। पिछले सप्ताह की तरह यह सप्ताह भी भारतीय शेयर बाजार के लिए निराशाजनक रहा। डॉलर के मुकाबले रुपये की गिरावट ने निवेशकों को काफी निराश किया। एक तरफ Nifty जहां 1.16% की गिरावट के साथ 17,327.35 के आंकड़े पर बंद हुआ तो वहीं Sensex ने 1.26% की गिरावट दर्ज करते हुए 58,098.92 के आंकड़े को छुआ।

आज ही शुरू करें अपना शेयर मार्केट का सफर, विजिट करें-https://bit.ly/3n7jRhX

इसके अतिरिक्त U.S. Federal Reserve और Bank of England के पॉलिसी रेट में आई बढ़त और रूस व यूक्रेन के बीच के तनाव ने भी बाजार को प्रभावित किया। हालांकि डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 30% की बढ़त की खबरों के बीच सप्ताह के शुरूआत में बाजार में एक बढ़त देखने को मिली थी।

बता दें कि विदेशी निवेशकों ने भारतीय शेयर बाजार में इस महीने में 12000 करोड़ रुपये का निवेश किया। साथ ही एक सर्वे के अनुसार 71% भारतीय निवेशकों ने अर्थव्यवस्था के एक साल के भीतर सामान्य स्थिति में वापस लौटने की उम्मीद भी दिखाई। इसके बावजूद भी बाजार ने ADB के 2022 के इकोनॉमिक ग्रोथ के पूर्वानुमान के बाद एक यू-टर्न दर्ज किया। ADB के अनुसार फाइनेंशियल ईयर 2022 में 7% की इकोनॉमिक ग्रोथ होने की संभावना है।

इसके अतिरिक्त बढ़ती हुई फूड, फार्म व ग्रामीण मजदूरी की बढ़ती कीमतों के कारण इंफ्लेशन अगस्त महीने में 6.94% तक पहुंच गया जो कि जुलाई में 6.82% था, जो कि बाजार के गिरने का प्रमुख कारण रहा।

अगर आप भी बाजार में निवेश करना चाहते हैं, तो 5paisa एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां इन्वेस्टिंग न तो सिर्फ ईजी पर रिवॉर्डिंग भी है। DJ2100 - Coupon Code के साथ बनाइये अपना Demat Account 5paisa.com पर और पाएं ऑफर्स का लाभ। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें- https://bit.ly/3b1BKeX

Note:- यह आर्टिकल ब्रांड डेस्क द्वारा लिखा गया है।

Edited By: Siddharth Priyadarshi