नई दिल्ली, पीटीआइ। शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। बैंकिंग, आईटी और ऑटो शेयरों में तेजी से इक्विटी बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स और निफ्टी गुरुवार को लगभग 1 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुए। 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 443.19 अंक या 0.86 प्रतिशत बढ़कर 52,265.72 पर बंद हुआ, जो कि दिन के दौरान यह 694.26 अंक या 1.33 प्रतिशत की तेजी के साथ 52,516.79 पर पहुंच गया था। वहीं, एनएसई निफ्टी 143.35 अंक या 0.93 प्रतिशत बढ़कर 15,556.65 पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की टॉप लूजर और गेनर कंपनियां

सेंसेक्स पैक से मारुति, एमएंडएम, एशियन पेंट्स, भारती एयरटेल, टीसीएस, सन फार्मा, विप्रो, आईसीआईसीआई बैंक और हिंदुस्तान यूनिलीवर टॉप गेनर कंपनियां रहीं। वहीं, दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज, एनटीपीसी, पावर ग्रिड और अल्ट्राटेक सीमेंट टॉप लूजर कंपनियां रहीं।

एशिया में हांगकांग, शंघाई और टोक्यो के शेयर बाजार लाभ के साथ क्लोज हुए, जबकि सियोल निचले स्तर पर बंद हुआ। मध्य सत्र के कारोबार में यूरोपीय बाजार लाल निशान में कारोबार कर रहे थे। वहीं, बुधवार को अमेरिकी बाजार मामूली गिरावट के साथ बंद हुआ था।

हेड- इक्विटी रिसर्च (फंडामेंटल), आनंद राठी शेयर्स एंड स्टॉक ब्रोकर्स नरेंद्र सोलंकी ने कहा कि भारतीय बाजार (एशियाई बाजार) गुरुवार को बढ़ोतरी के साथ खुला था। दोपहर के सत्र के दौरान बाजारों ने अपने कुछ लाभ को कम कर दिया, क्योंकि यूरोपीय बाजारों ने मंदी की आशंकाओं को दूर करने के लिए संघर्ष किया, लेकिन व्यापार करने में कामयाब रहे। 

30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स बुधवार को 709.54 अंक या 1.35 प्रतिशत की गिरावट के साथ 51,822.53 पर बंद हुआ था। वहीं, एनएसई निफ्टी 225.50 अंक या 1.44 प्रतिशत गिरकर 15,413.30 पर बंद हुआ था। इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 1.92 फीसद की गिरावट के साथ 109.60 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया।विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध विक्रेता बने रहे, क्योंकि उन्होंने बुधवार को एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार 2,920.61 करोड़ रुपये के शेयर बेचे थे।

Edited By: Sarveshwar Pathak