नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। शेयर मार्केट में निवेश कर अच्छा पैसा हम सभी बनाना चाहते हैं। इसके लिए अधिकतर निवेशक ऐसे स्टॉक्स ढूंढते रहते हैं जिनकी कीमत कम हो। सामान्यतः पेनी स्टॉक्स और स्मॉल कैप की कम्पनियों के स्टॉक्स की कीमत काफी कम होती है। हालांकि इनमें निवेश करना काफी जोखिम भरा हो सकता है। लेकिन पेनी स्टॉक्स और स्मॉल कैप कम्पनियों में मूलभूत अंतर क्या है, आज हम इसी पर बात करेंगे।

5paisa के साथ शुरू करें निवेश का सफर, विजिट करें-  https://bit.ly/3n7jRhX

क्या होते हैं पेनी स्टॉक्स

पेनी स्टॉक्स ऐसे स्टॉक्स होते हैं जिनकी कीमत काफी कम होती है। हालांकि इस कम कीमत का कोई निश्चित मानक नहीं है। 15-20 रुपये तक के स्टॉक को इसमें शामिल किया जाता है। ये स्टॉक्स एक्सचेंज के साथ साथ ओवर द काउंटर ट्रेडिंग भी करती हैं। यानी कि इनमें निवेश के लिए आप सीधे कम्पनी से भी डील कर सकते हैं।

स्मॉल कैप कम्पनियां

किसी कम्पनी को स्मॉल कैप उसकी कैपिटल साइज के आधार पर निर्धारित किया जाता है। सामान्यतः इनके शेयर की कीमत भी काफी कम होती है। लेकिन हर बार यह जरूरी नहीं। किसी कम्पनी का मार्केट में कैपिटल कितना है इसके आधार पर वह कम्पनी स्मॉल कैप कैटेगरी में आती है।

पेनी स्टॉक्स व स्मॉल कैप कम्पनी में अंतर

स्मॉल कैप कम्पनियों का कैपिटल साइज कम होता है तो वहीं पेनी स्टॉक्स का शेयर प्राइस काफी कम होता है। उदाहरण के लिए वोडाफोन आई़डिया (VI) एक लार्ज कैप कम्पनी है लेकिन उसके शेयर की कीमत 7 रुपए के आस-पास है। लेकिन Indian Infotech and Software (INDINFO) के एक शेयर की कीमत 1.86 पैसे है और यह कम्पनी स्मॉल कैप कैटेगरी में आती है। यह एक पेनी स्टॉक भी है।

अगर आप भी शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो आज ही 5paisa.com पर जाएं और अपने निवेश के सफर को और भी बेहतर बनाएं। साथ ही DJ2100 - Coupon Code के साथ बनाइये अपना Demat Account 5paisa.com पर और पाएं ऑफर्स का लाभ।

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें- https://bit.ly/3b1BKeX

लेखक- सत्यम सिंह

 

Edited By: Siddharth Priyadarshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट