नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। स्टॉक मार्केट में निवेश करने वाला निवेशक स्टॉक में नहीं, बल्कि किसी कंपनी के फ्यूचर में निवेश करता है। इसलिए निवेशक को कंपनी की हर जानकारी होनी चाहिए। कंपनी क्या करती है, क्या उसका फ्यूचर प्लान है, किस तरह के उसके खर्चे हैं, कितना लोन है और सबसे जरूरी चीज मैनेजमेंट कैसा है। एक निवेशक जब कंपनी को एनालाइज करता है, तो वह कंपनी के मैनेजमेंट के बारे में जानकारी जुटाता है, मैनेजमेंट किस तरह के फैसले ले रहा है, उसे समझता है। कुछ बिंदुओं से जानें कि मैनेजमेंट को कैसे एनालाइज किया जाता है।

1. ज्यादातर कंपनी में निर्णय प्रोमोटर्स ही लेते हैं। अगर हम प्रोमोटर्स के स्किल्स और पीछे लिए गए निर्णय को समझेंगे तो हमें उनके बारे में थोड़ा आइडिया हो जाएगा। इसके लिए आप उनके इंटरव्यू को देख सकते हैं। इससे आपको यह पता चलेगा कि मैनेजमेंट कितना फ्लेक्सिबल और ट्रांसपेरेंट है।

2. कंपनी के मैनेजमेंट को समझने के लिए आप कंपनी के काम करने के कल्चर को समझें। किसी कंपनी का कल्चर बिजनेस और उसके शेयरधारकों के भाग्य पर असर डालता है। इससे यह पता चलेगा कि मैनेजमेंट और एंप्लॉय के बीच किस तरह का संबंध है। क्या एंप्लॉय अपने मैनेजमेंट से परेशान है, क्या उन्हें समय पर सैलरी नहीं दी जा रही है आदि ऐसी समस्याएं चल रही हैं, तो निवेशकों को निवेश करने से पहले एक बार सोचना चाहिए।

3. एक निवेशक को किसी कंपनी में निवेश करने से पहले यह देखना चाहिए कि उस कंपनी के मैनेजमेंट ने किसी तरह का फ्रॉड या स्कैम तो नहीं किया है या फिर सेबी के साथ कोई डिस्प्यूट तो नहीं है। अगर ऐसा ज्यादा हो रहा है तो निवेशकों को सावधान हो जाना चाहिए।

4. कंपनी आगे नहीं बढ़ रही है और ग्रोथ कम हो रहा है, लेकिन मैनेजमेंट अपनी सैलरी बढ़ा रहा है, तो समझ लीजिए कि मैनेजमेंट कॉर्पोरेट गवर्नेंस को सही तरह से फॉलो नहीं कर रहा है। यहां समझने की जरूरत है कि मैनेजमेंट अपनी जेब भर रहा है और कंपनी की ग्रोथ पर ध्यान नहीं दे रहा है।

5. अगर कंपनी का मैनेजमेंट, लोन लिया हुआ पैसा या निवेशकों का पैसा कंपनी के विकास में न लगाकर किसी और कंपनी में डाइवर्ट कर रहा है, तो यह निवेशकों के लिए एक तरह का रेड अलर्ट है। इसे हम रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शन कहते हैं। अगर यह ज्यादा हो रहा है तो निवेशकों को संभल जाना चाहिए।

लेखक- शक्ति सिंह

 

Edited By: Siddharth Priyadarshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट