नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। आने वाली 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण फाइनेंशियल ईयर 2023-24 का आम बजट पेश करेंगी। यह बजट वर्तमान सरकार का आखिरी पूर्णकालिक बजट होगा। ऐसे में इस बजट से आम लोगों को काफी उम्मीदें हैं। खासतौर पर देश का मध्यम वर्ग इस बजट से टैक्स में छूट और मंहगाई कम करने के लिए सरकार द्वारा उठाए जाने वाले कदम की तरफ देखेगा। वित्त मंत्री के हाल ही दिए गए बयान कि, “मैं भी मिडिल क्लास की हूं...मिडिल क्लास के प्रेशर को मैं समझ पा रही हूं।” से मिडिल क्लास लोगों की बजट को लेकर उम्मीदें और भी बढ़ गयी हैं। ऐसे में देखना ये होगा कि इस बजट में मिडिल क्लास के लिए सरकार क्या खास कदम उठा रही है।

5paisa के साथ शुरू करें निवेश का सफर, विजिट करें-  https://bit.ly/3n7jRhX

बता दें कि पिछले वित्तीय वर्ष में मिडिल क्लास पर कोई नया टैक्स नहीं लगा है, लेकिन कुछ खास नयी राहतें भी नहीं दी गयी हैं। इसके अतिरिक्त मंहगाई में बढ़त और इन्वेस्टमेंट पर लगने वाले टैक्स से मिडिल क्लास को काफी दिक्कतें हो रही हैं। इनमें सुधार लाने के साथ सरकार के ऊपर कोविड-19 के बाद से ही चरमराई अर्थव्यवस्था को सुधारने का भी दबाव है। चलिए जानते हैं बजट से लोगों को क्या उम्मीदें हैं।

इनकम टैक्स में राहत

वर्तमान समय में इनकम टैक्स में 2.5 लाख रुपये तक की छूट है। आय 2.5 लाख से ज्यादा होने पर 2.5 लाख से 5 लाख रुपये तक की इनकम पर पांच फीसदी टैक्स देना होता है। ऐसे में मिडिल क्लास को टैक्स स्लैब बढ़ाए जाने की उम्मीद है।

इन्वेस्टमेंट पर टैक्स

आज अधिकतर लोग शेयर मार्केट अथवा Mutual Fund में निवेश कर रहे हैं। किसी इक्विटी स्कीम या Mutual Fund एक साल से ज्यादा समय तक निवेशित रहने पर इसपर मिलने वाले रिटर्न को Long Term Capital Gains (LTCG) कहते हैं। साल 2018 में इस टैक्स को फिर से शुरू किया गया था। वर्तमान समय में LTCG के तहत शेयर मार्केट में निवेश से प्राप्त होने वाले 1 लाख रुपये से ज्यादा के रिटर्न पर 10 फीसदी तक का टैक्स लगता है। ऐसे में आज जब अधिकतर युवा व मध्यमवर्गीय लोग शेयर मार्केट में निवेश की ओर आकर्षित हो रहे हैं, वो LTCG में छूट प्राप्त करना चाहते है। LTCG में छूट से लॉन्ग टर्म निवेश को बढ़ावा मिलेगा जो कि बाजार के लिए भी काफी अच्छा है।

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना

वैश्विक आर्थिक मंदी की खबरों के बीच भारतीय बाजार भी प्रभावित हो रहा है। जिसे सुधारने में माइक्रो व मीडियम इंडस्ट्रीज में सुधार की आवश्यकता है। वित्त मंत्री के हाल ही में जारी बयानों से भी माइक्रो व मीडियम इंडस्ट्रीज को भी बड़ी राहत की उम्मीद है, जिससे देश की अर्थव्यवस्था के पटरी पर लौटने की संभावना है।

मंहगाई व ब्याज दर

इस बजट के सामने सबसे बड़ी चुनौती मंहगाई व ब्याज दरों को कम करने की है। ब्याज दरों को कम करने से मध्यम वर्ग को बड़ी राहत मिल सकता है। आने वाले बजट को लेकर देश का मध्यम वर्ग काफी उत्साहित है। ऐसे में देखना ये होगा कि इस बजट में टैक्स व निवेश को लेकर क्या क्या राहतें दी जा रही हैं।

अगर आप भी शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं तो आज ही 5paisa.com पर जाएं और अपने निवेश के सफर को और भी बेहतर बनाएं। साथ ही DJ2100 - Coupon Code के साथ बनाइये अपना Demat Account 5paisa.com पर और पाएं ऑफर्स का लाभ।

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें- https://bit.ly/3b1BKeX

Note:- यह आर्टिकल ब्रांड डेस्क द्वारा लिखा गया है।

लेखक- सत्यम सिंह

 

Edited By: Siddharth Priyadarshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट