मुंबई, प्रेट्र। Lockdown In Mumabi. महाराष्ट्र में लॉकडाउन के दौरान घर से बाहर निकलने पर एक व्यक्ति की हत्या का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, मुंबई के कांदिवली ईस्ट में राजेश ठाकुर ने अपने छोटे भाई दुर्गेश की हत्या कर दी। बताया जाता है कि लॉकडाउन के दौरान घर से बाहर निकलने पर उनसे घटना को अंजाम दिया। 

समता नगर पुलिस के मुताबिक, दुर्गेश एक निजी फर्म में कार्यरत था। कोरोना वायरस के खौफ के चलते वह अपने घर लौट आया था। लॉकडाउन के दौरान राजेश ने दुर्गेश को घर से बाहर निकलने से मना किया। इसके बावजूद दुर्गेश घर से बाहर निकलने की कोशिश कर रहा था।

 इस कारण दोनों भाइयों में तकरार इतनी बढ़ गई कि राजेश ने दुर्गेश पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। दुर्गेश को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया था। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 21 दिन के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने माहौल को थोड़ा हल्का बनाते हुए राज्य के लोगों को घर में रहते हुए अपने 'होम मिनिस्टर' (पत्नी) की बात सुनने की सलाह दी थी। मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि राज्य में आवश्यक वस्तुओं का पर्याप्त भंडार है। मुख्यमंत्री ठाकरे बुधवार दोपहर महाराष्ट्र के प्रमुख पर्व गुडी पड़वा की शुभकामना देने के बहाने राज्य के लोगों को फेसबुक लाइव के जरिये संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा, 'मैं कोई गंभीर घोषणा करने के लिए नहीं आया हूं। सिर्फ गुडी पड़वा की शुभकामनाएं देने आया हूं और यह कहना चाहता हूं कि यदि आप घर से बाहर निकलेंगे, तो कोरोना नामक शत्रु आपके घर में आ जाएगा। इसलिए आप अपने घर पर ही रहें। जैसे मैं घर में रहकर मिसेज मुख्यमंत्री की सुन रहा हूं, वैसे ही आप अपने घर में रहकर होम मिनिस्टर की सुनिए।' 

महाराष्ट्र की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस