मुंबई/नागपुर(एजेंसी)। महाराष्ट्र में 11 दिवसीय गणेशोत्सव संपन्न होने के बाद विसर्जन प्रक्रिया शुक्रवार को समाप्त हो गई। इस दौरान 16 लोगों की मौत की सूचना है, जबकि दो लोग लापता बताए जा रहे हैं। नासिक में गुरुवार को भारी बारिश के बीच विसर्जन के दौरान सात लोगों की मौत हो गई।

मूर्ति विसर्जन के दौरान मुसालगांव के एक तालाब में सेना के जवान संदीप शिरसाट और एक अन्य स्थानीय नागरिक एस. रामेश्वर की डूबने से मौत हो गई, जबकि जिले के अन्य गांवों में नीलेश पाटिल, भूषण कास्बे, सुमित पवार, अमोल पाटिल और रोशन साल्वे की डूबकर मौत हो गई। सेल्फी लेने में गई जान वर्धा जिले में नदी में विसर्जन के दौरान भगवान गणेश की मूर्ति के साथ सेल्फी लेने के क्रम में तीन छात्रों की डूबकर मौत हो गई, जबकि उनके एक दोस्त को स्थानीय नागरिकों ने बचा लिया।

गोदावरी में विसर्जन के दौरान वालुज के एक स्कूल शिक्षक परमेश्वर शेनगुले की डूबने से मौत हो गई, जबकि नांदेड़ में एक सफाईकर्मी की भी मौत हो गई। जलगांव की कांग नदी में दो युवा पानी के तेज बहाव में बह गए। एक का शव बरामद कर लिया गया, जबकि एक अन्य लापता है। पुणे में विसर्जन के बाद से दो लोग लापता हैं। अभी इस बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध नहीं है।

नागपुर में एक 27 वर्षीय महिला मनीषा के मासाराम की मौत बुधवार रात हनुमान मंदिर गणेशोत्सव मंडल में प्रसाद बनाने की लड़ाई के दौरान हो गई। मनीषा का भाई लोकेश और एक अन्य व्यक्ति दर्शन आपस में लड़ रहे थे। इसी बीच वह बीच-बचाव करने पहुंचीं और धक्का लगने से गिर पड़ी। इस घटना में उनकी मौत हो गई। महाप्रसाद की खौलती कड़ाही में गिरी बच्ची

पंचपोली क्षेत्र के बुद्धनगर में गणेशोत्सव के दौरान महाप्रसाद के लिए बनाई जा रही दाल की खौलती कड़ाही में पांच साल की एक बच्ची प्रिया एस.माहुले गिर गई, जिससे उसकी मौत हो गई। वह 80 प्रतिशत से अधिक जल गई थी और बुधवार सुबह उसने दम तोड़ दिया। घटना के समय हलवाइयों सहित सभी लोग शाम की आरती में थे।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस