मुंबई, मिड डे। मुंबई में कोविड-19 मामलों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए अब बॉम्‍बे हाइकोर्ट की प्रिंसिपल बेंच 4 जनवरी से वर्चुअल सुनवाई करेगी। बार और बेंच के अनुसार, सभी उच्च न्यायालय बार एसोसिएशनों के साथ उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों की प्रशासनिक समिति द्वारा बैठक बुलाई गई थी। इस बैठक में बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के प्रमुख इकबाल सिंह चहल भी शामिल हुए थे।

बंबई उच्च न्यायालय के एक वरिष्ठ न्यायाधीश न्यायमूर्ति एए सैयद ने 31 दिसंबर को एक बैठक की अध्यक्षता की, जहां यह निर्णय लिया गया कि बार के सभी सदस्यों को उच्च न्यायालय में आने की आवश्यकता नहीं होगी। जब तक जरूरी न हो, उन्हें अपने सहायकों और इंटर्न को अदालत में नहीं भेजना चाहिए।

बैठक में अतिरिक्त नगर आयुक्त सुरेश काकानी और स्वास्थ्य आयुक्त रामास्वामी भी मौजूद थे। उन्होंने पुष्टि की कि ग्रेटर मुंबई नगर निकाय और राज्य सरकार दोनों ही कोविड -19 मामलों की बढ़ती संख्या से उत्पन्न होने वाले किसी भी संभावित संकट से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। बैठक के दौरान, चहल ने कहा कि पिछले 48 घंटों में मुंबई के कोविड -19 मामले तेजी से बढ़े हैं। इसके परिणामस्वरूप, प्रशासनिक समिति ने आभासी मोड में याचिकाओं को सुनने का निर्णय लिया।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 2160 नए मामले सामने आए और 11 मौत दर्ज की गई। राज्‍य में सक्रिय मरीजों की संख्‍या 52422 बतायी गई है। जिसमें से 578 ओमिक्रोन से संक्रमित हैं इनमें से 259 मरीज स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। वहीं मुंबई में कोरोना के 8082 नए मामलों की पुष्टि हुई है और दो संक्रमितों की मौत दर्ज की गई है। 622 मरीज स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। 37274 मरीज सक्रिय बताये गए हैं। कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे खतरे को देखते हुए पहली कक्षा से 9वीं तक के स्‍कूल 31 जनवरी तक बंद कर दिया गया है। कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए स्‍कूल जारी रहेंगे।

Edited By: Babita Kashyap