मुंबई, एएनआइ। केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले (Ramdas Athawale) ने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान को ड्रग ऑन क्रूज मामले में गिरफ्तार बेटे आर्यन खान को पुनर्वास केंद्र भेजने की सलाह दी है। अठावले का कहना है कि " इतनी छोटी उम्र में ड्रग्स लेना अच्छा नहीं है। आर्यन खान का भविष्य आगे है। मैं शाहरुख खान को सलाह देता हूं कि आर्यन खान को मंत्रालय से जुड़े एक नशामुक्ति केंद्र में भेजें।

केंद्रीय मंत्री अठावले ने कहा उसे जेल में रखने के बजाय 1-2 महीने वहां रहना चाहिए। देश भर में ऐसे बहुत से केंद्र हैं। 1-2 महीने में वह मादक पदार्थों की लत से ठीक हो जाएगा।”उन्होंने यह भी कहा कि उनके मंत्रालय के अनुसार एक नया कानून बनाया जाए जिसके तहत आरोपी को जेल न भेजा जाए। अठावले ने क्रूज ड्रग्स मामले की जांच के लिए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े की सराहना करते हुए और कहा, "कम से कम 5-6 बार, अदालत को जमानत याचिका मिली है, लेकिन उसे खारिज कर दिया गया।

गौरतलब है कि एनसीबी की एक टीम ने कॉर्डेलिया क्रूज जहाज पर एक कथित ड्रग्स पार्टी का भंडाफोड़ किया, जो 2 अक्टूबर को गोवा जा रहा था। आर्यन खान और कुछ अन्य को एनसीबी ने 3 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था। मामले में अब तक दो नाइजीरियाई नागरिकों समेत कुल 20 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के इस दावे के बाद कि समीर वानखेड़े पैसे की उगाही के लिए दुबई गए थे, अठावले ने कहा, "नवाब मलिक समीर वानखेड़े के चरित्र हनन का प्रयास कर रहे हैं। मैं नवाब मलिक से अनुरोध करता हूं कि किसी पर झूठा आरोप न लगाएं।" नवाब मलिक ने आरोप लगाया है कि वानखेड़े ने मालदीव और दुबई में फिल्म उद्योग के लोगों से पैसा वसूला है।

Edited By: Babita Kashyap