मुंबई, एएनआइ। शिवसेना (Shiv sena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने शुक्रवार को केंद्र की आलोचना करते हुए दावा किया कि कश्मीर संकट हल नहीं हुआ है और अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बावजूद कश्मीर में शांति नहीं है। कश्मीरी पंडितों (Kashmiri Pandit) और उनकी जान को खतरा है। भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर निशाना साधते हुए शिवसेना नेता ने कहा कि हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) पढ़ने और लाउडस्पीकर (Loudspeaker) बंद करने से कश्मीर समस्या का समाधान नहीं हो सकता। कश्मीरी पंडित राहुल भट की हालिया हत्या का जिक्र करते हुए राउत ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि पिछले सात सालों में कितने कश्मीरी पंडित कश्मीर घाटी लौट आए हैं।

पाकिस्तान पर उंगली उठाने की जरूरत नहीं

राउत ने केंद्रीय मंत्री अमित शाह से कश्‍मीरी पंडित राहुल भट की हत्या के बारे में गंभीरता से सोचने का आग्रह करते हुए कहा कि पाकिस्तान पर उंगली उठाने की कोई जरूरत नहीं है और इसके बजाय यह देखें कि कश्मीर के पंडितों के लिए क्या किया जा सकता है। साथ ही, केंद्र को जम्मू-कश्मीर में पैदा हो रहे असुरक्षा के माहौल को रोकने के लिए निर्णायक निर्णय लेने चाहिए।

कश्‍मीरी पंडितों के घर लौटने की होती है चर्चा

भाजपा का प्राथमिक एजेंडा कश्मीरी पंडितों की वापसी और सुरक्षा था। कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह काफी भावुक हैं, कश्मीरी पंडितों के घर लौटने की चर्चा होती रही है, लेकिन कितने लोग लौटे हैं यह अभी भी किसी को नहीं पता है। जो कश्मीरी पंडित हैं, उन्हें भी जीने के अधिकार से वंचित किया जाता है।" संजय राउत ने कहा, 'कश्मीर में जो अस्थिरता का माहौल बना है, उसे एक बार फिर कड़े फैसले लेकर ठीक किया जाना चाहिए। राउत ने हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर न तो कश्मीरी पंडितों की और न ही कश्मीर की समस्या का समाधान करेंगे।

भाजपा नेता कविंदर गुप्ता ने की हत्‍या की निंदा

भाजपा जेएंडके नेता कविंदर गुप्ता ने भट की हत्या की निंदा की और कहा कि सुरक्षा बल पाकिस्तान की बदलती रणनीति के अनुसार अपनी रणनीति बदलना चाहते हैं। लोगों को निशाना बनाने वाले आतंकवादी अब आम कपड़े पहने रहते हैं। गुप्ता ने कहा “मैं मृतक के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है जो नहीं होनी चाहिए थी। प्रशासन को कश्मीरी पंडित समुदाय की लक्षित हत्या पर विचार करना चाहिए। सुरक्षा बलों ने काम किया है और पिछले डेढ़ साल में लगभग 500 आतंकवादियों को मार गिराया है। ”

Edited By: Babita Kashyap