राज्य ब्यूरो, मुंबई। नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के अधिकारी समीर वानखेड़े एवं राकांपा नेता नवाब मलिक के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। नवाब मलिक ने वानखेड़े पर विदेश जाकर बालीवुड के लोगों से उगाही करने का आरोप लगाया है। इस पर वानखेड़े ने नवाब मलिक पर मुकदमा करने की धमकी दी है। अभिनेता शाह रुख खान के पुत्र आर्यन खान की ड्रग्स मामले में गिरफ्तारी के बाद से ही एनसीबी मुंबई के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े पर राकांपा के प्रवक्ता एवं महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक तरह-तरह के आरोप लगाते आ रहे हैं। 

मलिक ने गुरुवार को वानखेड़े पर कुछ नए आरोप लगाते हुए उन्हें भाजपा की कठपुतली करार दिया। उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि पिछले वर्ष अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद इस अधिकारी को एनसीबी में लाया गया। सुशांत की आत्महत्या की गुत्थी तो सीबीआइ नहीं सुलझा सकी, लेकिन एनसीबी का खेल फिल्म उद्योग में शुरू हो गया। रिया चक्रवर्ती को फर्जी तरीके से फंसाया गया। दर्जनों अभिनेता-अभिनेत्रियों की परेड कराई गई। कुछ लोगों को मुकदमे में फंसाने का प्रयास किया गया।

मलिक ने वानखेड़े का नाम लिए बिना उन पर फिल्म उद्योग से वसूली का आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना काल में पूरी फिल्म इंडस्ट्री मालदीव में थी। उसी दौरान अधिकारी (समीर वानखेड़े) का परिवार भी मालदीव एवं दुबई में था। इसकी जानकारी समीर वानखेड़े नामक अधिकारी को देनी पड़ेगी। वे बताएं कि वे दुबई गए थे क्या? क्या उनके परिवार के लोग उस समय मालदीव में थे, जब पूरा बालीवुड मालदीव में था? क्या कारण था उनके वहां जाने का? हमें पूरा यकीन है कि सारी उगाही मालदीव एवं दुबई में हुई है। इसकी तस्वीरें भी हम आप लोगों को देंगे।

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े से सवाल किया है कि वह बताएं कि उनका आका कौन है, जिसके इशारे पर वह काम कर रहे हैं? मलिक ने दावा किया है कि समीर वानखेड़े को साल भर के अंदर अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ेगा एवं उन्हें जेल भी जाना पड़ेगा। समीर वानखेड़े ने नवाब मलिक के आरोपों को गलत बताते हुए कहा है कि वह दुबई तो गए ही नहीं। हां, वह अपने अधिकारियों से अनुमति लेने के बाद अपने बच्चों के साथ मालदीव जरूर गए थे। यदि इसे उगाही कहा जा सकता हो तो यह मुझे स्वीकार्य नहीं है। समीर वानखेड़े के पक्ष में उनके विभाग ने भी एक प्रेस नोट जारी कर स्पष्टीकरण दिया है।

एनसीबी के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र के उप निदेशक जनरल मुथा अशोक जैन की ओर से जारी प्रेस नोट में कहा गया है कि इंटरनेट मीडिया पर समीर वानखेड़े के बारे में दी जा रहीं कुछ सूचनाएं सही नहीं हैं। वह 31 अगस्त, 2020 से एनसीबी में प्रतिनियुक्ति पर आए हैं। उसके बाद से उन्होंने दुबई जाने का कोई आवेदन विभाग को नहीं दिया है। हां, 27 जुलाई, 2021 को विभाग ने उन्हें परिवार के सदस्यों के साथ मालदीव जाने की अनुमति जरूर दी थी। समीर वानखेड़े का कहना है कि जिस समय उनके दुबई में होने की बात कही जा रही है, उस समय वह मुंबई में थे। समीर वानखेड़े ने कहा है कि उनके परिवार को लगातार निशाना बनाया जा रहा है। हम अपने अधिकारियों से अनुमति लेकर इसके खिलाफ न्यायालय में जाएंगे।

Edited By: Tanisk