दिवाकर शर्मा (मिड-डे), मुंबई। आर्थोपेडिक सर्जन बनकर महिलाओं को प्रेमजाल में फंसाने और फिर उनसे शादी करने वाले 51 वर्षीय हेमंत पाटिल उर्फ हेमंत सोनावणे को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पूछताछ में हेमंत ने अभी तक गलत तरीके से पांच शादियां करने के बारे में बताया है, यह संख्या ज्यादा भी हो सकती है। उसने जिन्हें फंसाकर शादी की उनमें इंजीनियर, प्रोफेसर, डाक्टर, एमबीए और एमटेक कर रही महिलाएं शामिल हैं। इन महिलाओं की आर्थिक स्थिति भी सुदृढ़ है और ये अच्छे वेतन पर कार्य कर रही हैं। धोखा खाई इन महिलाओं ने फिर से किसी पर विश्वास नहीं किया और अब वे अकेले ही जीवन जी रही हैं। इनमें से कुछ ने अपने रिश्तेदारों को पति की मौत होने की बात बताई है। उनसे पूछताछ में पता चला है कि हेमंत को आनलाइन अश्लील वीडियो देखने की लत है। वह मानसिक रूप से बीमार है। उसे मानसिक चिकित्सालय में भेजा जाना चाहिए। इनमें से एक ने प्राइवेट जासूस की मदद लेकर हेमंत की कारगुजारी से पर्दा उठाया। पुलिस को पता चला है कि हेमंत ने दशकों पहले मध्य प्रदेश के कटनी में रहने वाली पहली पत्नी को तलाक दिया था। यह पूर्व पत्नी अब अपने 18 साल के बेटे के साथ रहती हैं और पेशे से वह इंजीनियर हैं।

महिलाओं को इस तरह फंसाता था जाल में

पुलिस की जांच में पता चला है कि हेमंत ने झूठी बातें बताकर पांच महिलाओं से शादी की और छह दर्जन से ज्यादा महिलाओं और लड़कियों के साथ लिव-इन रिलेशन में रहा है। इनमें से कई उन अस्पतालों की नर्सें थीं, जिनमें उसने डाक्टर के रूप में कार्य किया। हेमंत की पत्नी रही एक महिला ने बताया कि उसके पूर्व पति की आंखें हमेशा फंसने वाली महिलाओं को तलाशती रहती हैं। महिला से मिलकर वह उनकी मदद करता है, कुछ गिफ्ट देता है और कुछ समय बाद बताता है कि वह अकेला है और उनसे शादी करना चाहता है। महिला के जाल में फंसते ही कुछ दिन तो उसकी अच्छी तरह देखभाल करता है और उसकी बातें मानता है, लेकिन उसके बाद लड़ाई-झगड़े पर उतर आता है। इसका नतीजा यह होता है कि कुछ दिनों के बाद संबंध कटुतापूर्ण हो जाते हैं और उसके बाद हेमंत उस महिला को छोड़कर चला जाता है। यह बात कहने वाली महिला कर्नाटक में गणित की प्रोफेसर है।

जलगांव जिले का रहने वाला

हेमंत के संपर्क में रह चुकीं एक अन्य महिला ने बताया कि पाटिल को अंग्रेजी से नफरत है और वह हिंदी में बात करने पर जोर देता है। पत्नी रहीं डेंटिस्ट महिला ने अमरावती पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि हेमंत की मेडिकल डिग्री फर्जी है। उनकी शिकायत पर सितंबर, 2015 में हेमंत को गिरफ्तार किया गया था और वह करीब नौ महीने जेल में रहा था लेकिन उसके बाद जमानत पाकर उसने फिर से औरतों को फंसाना शुरू कर दिया। हेमंत ने आर्थोपेडिक सर्जन बनकर मैट्रीमोनियल वेबसाइट पर अपना प्रोफाइल बना रखा है। उनके जरिये भी वह महिलाओं को फंसाता था। हेमंत पाटिल मूल रूप से महाराष्ट्र के जलगांव जिले का रहने वाला है। उसके पिता रेलवे की मेल सर्विस में कार्य करते थे।

Edited By: Sachin Kumar Mishra