मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने बुधवार देर रात मुंबई के मलाड पश्चिम में न्यू कलेक्टर परिसर में एक आवासीय संरचना के ढहने से हुए हादसे में मरने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की है। महाराष्ट्र के मंत्री असलम शेख ने कहा, "मृतकों के परिवारों को मुआवजे के रूप में प्रत्येक को 5 लाख रुपये दिए जाएंगे।" 

बता दें कि वीरवार रात आवासीय भवन के गिरने से आठ नाबालिगों सहित 11 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। जबकि 18 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है, सात घायल बताये गए हैं जिन्‍हें इलाज के लिए अस्‍पताल में भर्ती करवा दिया गया है। 

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के अनुसार, इमारत ढहने से पास की एक आवासीय इमारत भी इसकी चपेट में आ गयी। इस इमारत की हालत भी खतरनाक बतायी जा रही है जिसे देखते हुए इसे खाली करवा लिया गया है। घटनास्‍थल पर बचाव कार्य अभी भी जारी है। मुंबई पुलिस ने कहा कि वह आवासीय ढांचे के मालिक और ठेकेदार के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया जा चुका है।

मलबे को हटाने का कार्य जारी

मुंबई मानसून की बारिश की दस्‍तक के साथ ही इमारत ढहने की घटना सामने आ गई। महाराष्ट्र के मंत्री असलम शेख का भी कहना है कि इस बारिश के कारण ये इमारत ढह गई। हादसे के बाद से ही घटनास्‍थल पर बचाव कार्य जारी है। मलबे को हटाया जा रहा है। इस दर्दनाक हादसे में 11 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि 18 को मलबे से जिंदा निकाला गया है, सात लोग घायल बताये गए हैं जिनका अस्‍पताल में इलाज चल रहा है। स्‍थानीय निवासी के अनुसार ये घटना रात करीब 10:15 बजे हुई थी। उसने बताया मैं जैसे ही अपने घर से बाहर निकला मैंने वहां स्थित एक डेयरी समेत तीन इमारतों को गिरते हुए देखा।

Edited By: Babita Kashyap