मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल (Dilip Walse Patil) ने कहा कि मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (Parambir Singh) के खिलाफ अनुशासनहीनता और अन्य अनियमितताओं को लेकर कानूनी कार्रवाई की प्रक्रिया जारी है और उनके निलंबन को लेकर भी कार्रवाई चल रही है। गौरतलब है कि बीते सोमवार को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रहे एक आयोग के समक्ष पेश हुए थे। आयोग ने इसके बाद उनके खिलाफ जारी जमानती वारंट को रद कर दिया था। एक सदस्‍यीय आयोग के समक्ष परमबीर सिंह ने हलफनामा भी दायर किया था। जिसमें कहा गया था कि उनके पास बयान देने के लिए कुछ नहीं है, वे जांच आयोग की पूछताछ में शामिल नहीं होना चाहते।

अनिल देशमुख के वकील ने आयोग के परिसर में परमबीर सिंह और बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वाझे के एक ही कमरे में साथ बैठने पर आपत्ति व्‍यक्‍त की थी। सचिन वाझे आयोग के सामने पेश होते रहे हैं। अनिल देशमुख के वकील का कहना था कि परमबीर सिंह और सचिन वाझे पिछले एक घंटे से साथ बैठे हुए हैं। वे गवाह को प्रभावित कर सकते हैं। जस्टिस चांदीवाल (सेवानिवृत्त) का कहना था कि इस स्थिति से बचने के लिए इस कमरे ( जहां आयोग कार्यवाहीं कर रहा था) में बैठना ठीक है।

सीआइडी के समक्ष भी पेश हुए थे परमबीर सिंह

जबरन वसूली के दो मामलों में बयान दर्ज करने को लेकर परमबीर सिंह सोमवार को सीआइडी के समक्ष भी पेश हुए थे। नवी मुंबई के निकट बेलापुर में स्थित कार्यालय में दिन के तीसरे पहर 3 बजकर 30 मिनट पर परमबीर सिंह पेश हुए थे। बता दें कि सीआइडी परमबीर सिंह के खिलाफ मरीन ड्राइव और कोपरी पुलिस स्टेशन में दर्ज मामलों की भी जांच कर रही है।

Edited By: Babita Kashyap