मुंबई, एजेंसी। पूरे देश में लगातार बढ रहे कोरोना संक्रमितों को देखते हुए ग्रामीण इलाकों से शहरों में काम करने आये कामगारों के पलायन का दौर शुरु हो गया है। पीएम मोदी द़वारा पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा के बाद से परिवहन सुविधाओं पर विराम लग गया है, ऐसे में कामगारों की ये भीड़ अब अपने स्‍थायी निवास की और जाने को बेताब है। ऐसे में ये लोग पैदल और सामान लाने वाले कंटेनर ट्रकों में भी जाने को सवार है।

महाराष्ट्र पुलिस ने गुरुवार को  दो कंटेनर ट्रकों की तलाशी के दौरान 300 से अधिक प्रवासी कामगारों को उसमें जाते हुए पकड़ा। प्रवासियों से भरा ये ट्रक तेलंगाना से राजस्थान के लिए आवश्यक वस्तुओं को ले जा रहा था। इस तरह से कंटेनर में 300 से अधिक लोगों को देखकर अधिकारी भी चकित थे। ये सभी कामगार प्रवासी राजस्थान के रहने वाले थे और घर लौटने की जल्‍दी में इन्‍होंने ये खतरनाक तरीका अपनाया।  

पुलिस और राजस्व विभाग की संयुक्त टीम ने यवतमाल जिले के बार्डर पर तेलंगाना की ओर जा रहे इन दो कंटेनर ट्रकों को जांच के लिए रोका था। पूछताछ के दौरान जब ट्रक चालक संतोषजनक जवाब न दे सका तो पांढरकवडा टोल बूथ पर अधिकारियों को दाल में कुछ काला लगा और उन्‍होंने जांच करना ही उचित समझा। कंटेनरों के अंदर देखते ही उनके होश उड गये जिसमें 300 से अधिक दिहाड़ी मजूदर भरे हुए थे। इन लोगों ने अपनी परेशानी बताते हुए कहा कि हम अपने गृह राज्य राजस्थान जाना चाहते थे लेकिन परिवहन का कोई साधन न मिलने के कारण परेशान थे। पुलिस ने अनुसार दोषी ट्रक चालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, लेकिन परेशान असहाय मजदूरों को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं लिया है। 

 Coronavirus से निपटने के लिए शिवसेना सांसद और विधायकों का मुख्यमंत्री राहत कोष में योगदान

 CoronavirusLockdown: नागपुर की इन बहनों ने समझी अवारा कुत्‍तों की पीड़ा, अब निभा रही हैं जिम्‍मेदारी

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस