मुंबई, राज्य ब्यूरो। Dussehra Rally In Mumbai: शिवसेना अध्यक्ष व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को अपनी पार्टी की परंपरागत दशहरा रैली में भाजपा पर प्रहार करने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत के ही वक्तव्यों का सहारा लिया। साथ ही, उन्होंने भाजपा को यह चुनौती भी दे डाली कि हिम्मत हो तो मेरी सरकार गिराकर दिखाओ। महाराष्ट्र में मंदिरों को खोलने को लेकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखा था। इस पत्र में राज्यपाल ने शिवसेना को उसकी हिंदुत्वनिष्ठ विचारधारा की भी याद दिलाई थी। राज्यपाल के इस पत्र का जवाब उद्धव पहले भी दे चुके हैं।

पार्टी की दशहरा रैली में भी उन्होंने संघ प्रमुख मोहन भागवत का एक वक्तव्य उद्धत करते हुए इसका जवाब दिया। मोहन भागवत ने रविवार को ही सुबह कहा था कि सिर्फ देव, मंदिर, पूजा, अर्चना ही हमारा हिंदुत्व नहीं है। उद्धव ने भागवत के इसी वाक्य का सहारा लेते हुए भाजपा पर हमला बोला। उन्होंने सवाल किया कि आज जो लोग हमें हिंदुत्व सिखा रहे हैं, बाबरी ढांचा ढहाए जाते समय उन्होंने चुप्पी क्यों साध रखी थी? इस दौरान उद्धव ने गोवंश पर भी भाजपा की नीतियों को घेरा। उन्होंने कहा कि ये हिंदुत्व हमें नहीं चाहिए। उन्होंने सवाल किया कि गोवा में गोवंश वध पर बंदी क्यों नहीं है?

शिवाजी पार्क के ठीक सामने स्थित सावरकर संस्थान के सभागार में अत्यंत सीमित संख्या में शिवसैनिकों को संबोधित करते हुए उद्धव ने मोहन भागवत के एक और वाक्य को भाजपा पर हमले के लिए इस्तेमाल किया। भागवत ने कहा था कि राजनीति का मतलब युद्ध नहीं है। उद्धव ने कहा कि ये बात भाजपा को समझनी चाहिए, जो विपक्ष को खत्म करना चाह रही है। उन्होंने बिहार चुनाव में भाजपा और जदयू गठबंधन पर भी यह कहते हुए निशाना साधा कि बिहार में भाजपा ने नीतीश कुमार को अपना मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर रखा है। उन्होंने नीतीश कुमार पर यह कहते हुए कटाक्ष किया कि नीतीश कुमार आपको शुभकामनाएं देता हूं। फिर उन्होंने सवाल किया कि संघमुक्त भारत की बात करने वाले नीतीश कुमार अब आपको पसंद आने लगे हैं। नीतीश कुमार हिंदुत्ववादी हो गए हैं या भाजपा सेक्युलर हो गई है ? उद्धव ने भाजपा का नाम लिए बिना इशारों में उस पर अपनी सरकार गिराने की कोशिश का आरोप लगाते हुए चेतावनी दी कि हिम्मत है तो हमारी सरकार गिराकर दिखाओ। हम बाघ की औलाद हैं। छेड़ोगे तो पछताओगे।

शिवसेना अध्यक्ष के रूप में बोलते हुए उद्धव ने कहा कि आज मैं मुख्यमंत्री पद का मास्क हटाकर बोल रहा हूं। पिछले करीब तीन माह से चल रहे सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण का भी उन्होंने अपने भाषण में जिक्र किया। उन्होंने कहा कि जो लोग बिहार के बेटे के लिए गला फाड़ रहे थे, वही महाराष्ट्र के बेटे पर कीचड़ उछाल रहे थे। आदित्य ठाकरे और ठाकरे परिवार पर जमकर कीचड़ उछाला गया। ये भयंकर है। उद्धव के अनुसार, यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि मुंबई पर नशेड़ियों का राज है। महाराष्ट्र आगे बढ़ रहा है, इसलिए उसकी बदनामी की जा रही है। उद्धव ने बिना नाम लिए कंगना रनोट पर भी निशाना साधा। कहा कि घर में खाने को नहीं मिलता, तो मुंबई आते हैं, और यहां आकर नमकहरामी करते हैं।

संजय राउत बोले, पांच साल पूरे करेगी सरकार

वहीं, शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि यहां से सब कुछ 'महा’- महा अगाड़ी, महाराष्ट्र आदि होगा यदि यह 'महा’ दिल्ली की ओर बढ़ता है तो आश्चर्यचकित ना हों। पिछले साल मैंने कहा था कि इस साल हम शिवसेना के सीएम होंगे और देखेंगे, यह हो रहा है। उन्होंने कहा कि यह सरकार अपना पांच साल का पूरा कार्यकाल पूरे करेगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस