जबलपुर/मुंबई, जेएनएन। छात्रा को ब्लैकमेल करने के आरोप में पुलिस ने एक वकील को गिरफ्तार किया है। पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है। 

जानकारी के मुताबिक, जबलपुर निवासी वकील चैतन्य सागर सोनी (25) ने इंस्टाग्राम पर फर्जी अकाउंट बनाकर मुंबई की 16 वर्षीय छात्रा से दोस्ती की। दोनों ने इंस्टाग्राम पर अपनी फोटो का भी आदान-प्रदान किया। कुछ दिन चली दोस्ती के बाद वकील ने किशोरी द्वारा भेजी गई फोटो की एडिटिंग करते हुए अश्लील बना दिया और इसे वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगा। ब्लैकमेलिंग से त्रस्त किशोरी ने अपने अभिभावकों को घटनाक्रम की जानकारी दी। आरोपित ने जब ब्लैकमेलिंग करना बंद नहीं किया तो अंतत: किशोरी और उसके परिजन थाने पहुंचे और पुलिस को आपबीती बताई।

किशोरी की शिकायत पर दिसंबर 2018 में मुंबई के साकी नाका थाने में पाक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया था। आरोपित को ट्रेस करने में पुलिस को परेशानी आई। क्योंकि इंस्टाग्राम पर उसने उमर सुल्तान के नाम से फेक अकाउंट बनाया था। इसके लिए उसने एक विशेषष एप का उपयोग किया जिससे लोकेशन बदली जा सकती थी। जांच अधिकारी अभिषषेक पाटिल ने केस की लगातार मॉनिटरिंग की। मुंबई पुलिस सोमवार को जबलपुर पहुंची और वकील को गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड पर साथ ले गई। स्पूफिंग एप से बदली लोकेशन इस संबंध में राज्य सायबर एसपी जबलपुर अंकित शुक्ला का कहना है कि इंस्टाग्राम पर अपनी लोकेशन छिपाकर कोई और लोकेशन बताने के लिए स्पूफिंग एप का इस्तेमाल किया जाता है। एप के जरिए इंस्टाग्राम पर वह लोकेशन दिखाई देगी जो उस पर डाली जाएगी।

आरोपित चैतन्य सागर सोनी के खिलाफ आईपीसी की कई धाराओं में प्रकरण दर्ज गिरफ्तार किया गया है। आईटी एक्ट की धाराएं भी लगाई गई हैं। बुधवार को उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे दो दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है।

- अभिषषेक पाटिल, जांच अधिकारी, साकीनाका पुलिस स्टेशन, मुंबई।

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस