मुंबई, एजेंसी। पूर्व मीडिया उद्यमी और अपनी बेटी शीना बोरा हत्याकांड मामले में मुंबई की बायकुला जेल में बंद इंद्राणी मुखर्जी के खिलाफ जेल में दंगा भड़काने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया गया है। इस ममाले में इंद्राणी के अलावा अन्य छह लोगों पर भी केस दर्ज किया गया है। 

पुलिस ने इन सभी पर जेल में दंगा भड़काने और आपराधिक साजिश रचने के आरोप में केस दर्ज किया है। नागपाड़ा पुलिस ने जिन छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है, उनमें बायकुला जेल की स्टाफर, जेलर आदि के नाम भी शामिल हैं। बता दें कि बीते शुक्रवार को हत्या के आरोप में जेल में बंद 31 वर्षीय कैदी मंजुला शेटे की मौत हो गई थी। इसके बाद जेल में तकरीबन 200 महिला कैदियों ने विरोध प्रदर्शन किया था।

शेटे की मौत की खबर फैलने के बाद छह अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया। इनमें जेलर मनीषा पोखरकर, गार्ड बिंदु, वसीमा शेख, शीतल, सुरेखा और आरती के नाम शामिल है। महिला कैदी शेटे की मौत के बाद विरोध प्रदर्शन कर रहीं कैदियों ने आरोप लगाया था कि शेटे से जेल अधिकारियों ने मारपीट की है, जिसके बाद उसकी हार्ट अटैक से मौत हो गई। शुक्रवार को बायकुला जेल की बैरक नंबर पांच में शाम साढ़े पांच बजे शेटे मृत पाई गई थीं। इसके बाद जेल के अधिकारी शेटे को जेजे अस्पताल लेकर गए, जहां उन्हें डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था।

मंजुला शेटे की मौत पर एक जेल  अधिकारी ने बताया कि उसने पुणे की यरवदा जेल में कैद के 12 साल बिता लिए थे, जिसके बाद उसे वॉर्डन के रूप में प्रमोट कर दिया गया था। अधिकारी ने कहा कि शेटे की मुंबई जेल में ट्रांसफर किए जाने की मांग को भी मान लिया गया था। वॉर्डन के रूप में उसका काम लॉ एंड ऑर्डर की देखभाल करना था।

यह भी पढ़ें:  शीना बोरा हत्याकांड मामले में सुप्रीम कोर्ट जाने पर विचार

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Babita Kashyap