मुंबई, राज्य ब्यूरो। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह कार्यवाह भैयाजी जोशी ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की ओर इशारा करते हुए कहा कि जिस प्रकार कुछ वर्ष पहले एक सांस्कृतिक प्रतीक का निर्माण सोमनाथ में हुआ है, उसी प्रकार निकट भविष्य में एक और सांस्कृतिक प्रतीक का निर्माण अयोध्या में होता दिखाई देगा।

भैयाजी जोशी के अनुसार, भारत मृत्युंजय है, कभी समाप्त होने वाला नहीं है। हमारी आस्था पर आक्रमण हुए, लेकिन आस्था जीवित है। कई मंदिर तोड़े गए, लेकिन मंदिरों का निर्माण समाप्त नहीं हुआ। इसी तरह रामायण, महाभारत और वेद जलाने से उनके संदेश नहीं जलते। उन्होंने कहा कि तर्क विफल होते हैं, आस्था को विफल नहीं किया जा सकता। भैया जी ने कार्यक्रम के बाद मीडिया के सवालों के जवाब देते हुए भी कहा कि राम मंदिर हमारे एजेंडे पर है। सरकार को इसके रास्ते में आने वाले सभी अवरोध दूर करने चाहिए। अवरोध दूर होते ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण होगा। सवर्ण संगठनों द्वारा गुरुवार को आहूत भारत बंद पर संघ के रुख के बारे में पूछे जाने पर भैयाजी जोशी ने कहा कि हम किसी भी तरह की संकुचित मानसिकता का विरोध करते हैं। संघ ऐसी किसी भी मानसिकता में यकीन नहीं करता।

 

Posted By: Babita