मुंबई, एजेंसी। Maharashtra News: महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई (Mumabi) के पश्चिमी उपनगरों में रविवार को गरज के साथ भारी बारिश (Heavy Rain) हुई। शहर में करीब तीन सप्ताह के अंतराल के बाद बारिश हुई। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अधिकारियों के अनुसार, इस दौरान भीषण गर्मी के कारण स्थानीय स्तर पर बारिश होना एक सामान्य घटना है। अगस्त के पहले सप्ताह के बाद मुंबई में बारिश नहीं हुई। आइएमडी के एक अधिकारी ने कहा कि कभी-कभी बूंदा बांदी होती थी, लेकिन रिकार्ड करने के लिए बहुत कम।

बांदा के उत्तर में बोरीवली तक हुई बारिश

रविवार की सुबह पश्चिमी उपनगरों में बांद्रा के उत्तर में बोरीवली तक बारिश हुई। कुछ इलाकों में बारिश तेज थी। पश्चिमी उपनगरों की तुलना में दक्षिण मुंबई और पूर्वी उपनगरों में कोलाबा में शायद ही बारिश हुई हो। इस प्रकार की बौछारें दक्षिण-पश्चिम मानसून की बारिश का हिस्सा नहीं हैं। उन्होंने कहा कि शनिवार को सुबह 8.30 बजे और रविवार को सुबह 5.30 बजे के बीच सांताक्रूज वेधशाला, जो पश्चिमी उपनगरों का प्रतिनिधित्व करती है, में केवल 13.8 मिमी बारिश दर्ज की गई। बारिश की तीव्रता बाद में सुबह करीब छह बजे बढ़ गई।

93.7 मिली बारिश दर्ज

अधिकारी ने कहा कि 24 घंटे की अवधि में रविवार को सुबह 8.30 बजे तक सांताक्रूज वेधशाला (पश्चिमी उपनगरों के प्रतिनिधि) ने 93.7 मिमी बारिश दर्ज की, जिसमें से अधिकांश रीडिंग से पहले पिछले कुछ घंटों में प्राप्त हुई । 64.5 मिमी से अधिक बारिश को भारी बारिश माना जाता है। नौ अगस्त को सांताक्रूज वेधशाला ने 123.6 मिमी बारिश दर्ज की। तब से रविवार को शहर के कुछ हिस्सों में भारी बारिश से पहले कभी-कभार ही बूंदाबांदी हुई।मुंबई में भारी बारिश की वजह से वाहनों की रफ्तार थम गई। जगह-जगह सड़कों पर पानी भर गया। इस कारण जाम लग गया। लोगों को आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ा। निचले इलाकों में लोगों के घरों में पानी घुस जाने की भी खबर है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट