मुंबई, एएनआइ। देशभर में आज गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जा रहा है। महाराष्ट्र में इस पर्व की रौनक देखने लायक होती है। मंदिरों में सुबह से ही गणपति जी की विशेष पूजा-अर्चना की जा रही है। इस साल मुंबई के लालबागचा राजा विष्णु अवतार में नजर आ रहे हैं। 10 दिन तक चलने वाले गणेशोत्‍सव में अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश जी की प्रतिमा का विसर्जन किया जाएगा। हालांकि कोरोना महाकारी के कारण सरकार द्वारा कई तरह के प्रतिबंध भी लगाये गए हैं जिससे संक्रमण न फैल सके। सरकार ने लोगों से अपील की है कि कोविड नियमों का पूरी तरह से पालन करें। 

गणेश चतुर्थी के अवसर पर परेल के लाल बाग इलाके के गणेश गली में स्थित 'मुंबई चा राजा' में पुजारी और आयोजकों ने सुबह की आरती की

 श्री गणेश टेकड़ी मंदिर के बाहर लगी भक्‍तों की भीड़ 

गणेश चतुर्थी पर नागपुर के श्री गणेश टेकड़ी मंदिर में सुबह की आरती और पूजा-अर्चना की जा रही है। मंदिर के बाहर भक्तों की भीड़ लगी हुई है। बता दें कि कोविड महामारी के कारण राज्‍य में मंदिर बंद हैं। जिसे लेकर भक्‍तों का कहना है कि अब तो बार और पब भी खुले हैं, तो मंदिरों को फिर से खोलने में क्या दिक्कत है?

गणेश चतुर्थी पर नागपुर के श्री गणेश टेकड़ी मंदिर में सुबह की आरती और पूजा-अर्चना की जा रही है।

जानें पूजा का शुभ मुहूर्त

आज घर व पूजा पंडालों में ब्रह्म और रवियोग में गणपति जी की प्रतिमा की स्‍थापना की जाएगी। इस खास दिन भगवान गणेश की पूरी विधि-विधान से पूजा की जाती है। गणेश चतुर्थी पर पूजन का शुभ मुहूर्त 12 बजकर 17 मिनट पर अभिजीत मुहूर्त से शुरू होकर रात 10 बजे तक शुभ समय रहेगा। इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर भद्रा की छाया नहीं रहेगी। आज 11 बजकर 09 मिनट से 10 बजकर 59 मिनट तक पाताल निवासिनी भद्रा रहेगी। पाताल निवासिनी भद्रा का योग शुभ माना जाता है ऐसा शास्‍त्रों में लिखा है। बता दें कि इस खास दिन पर गणेश जी को पूजने से कृपा संग सुख-शांति और सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

पांच से अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने पर पाबंदी

कोविड -19 स्थिति का हवाला देते हुए, पुलिस ने गुरुवार को मुंबई में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत 10 से 19 सितंबर के बीच गणेश उत्सव के दौरान पांच या अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने पर रोक लगा दी है । एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि इस दौरान शहर में किसी भी प्रकार के जुलूस की अनुमति नहीं होगी और भक्तों को गणेश पंडालों में जाने की अनुमति नहीं होगी।

उल्‍लंघन करने वालों पर सख्‍त कार्रवाई

महाराष्ट्र गृह विभाग ने पंडालों में जाने पर प्रतिबंध लगाने से एक दिन पहले एक सर्कुलर जारी किया था ताकि वायरल संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। मुंबई में बुधवार को 530 नए कोरोनोवायरस मामले दर्ज किए गए, जो जुलाई के मध्य के बाद से सबसे अधिक हैं। पुलिस उपायुक्त एस चैतन्य द्वारा जारी आदेश में गृह विभाग के साथ-साथ बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के निर्देशों का उल्लेख किया गया है। पुलिस विज्ञप्ति में कहा गया है कि लोग ऑनलाइन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (जैसे टीवी) के माध्यम से पंडालों में स्थापित गणेश प्रतिमाओं के 'दर्शन' कर सकते हैं। आदेशों का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति को आईपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Babita Kashyap