मुंबई, एएनआइ। मुंबई पुलिस की अपराध शाखा (Crime Branch of Mumbai Police) ने एक दवा की दुकान पर छापा मारकर 272 रेमेडिसविर इंजेक्शन (Remdesivir Injections) बरामद किए हैं। इन इंजेक्‍शन को दुकानदार ने ब्‍लैक में बेचने के लिए रखा हुआ था। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। बता दें कि पूरी दुनिया में कोरोना संक्रमण के चलते रेमेडिसविर के लिए मारामारी शुरू हो गई है। कोरोना महामारी के इलाज में रेमेडिसविर दवा का नाम ही सबसे पहले सामने आया था। 

 आज देश के कई हिस्‍सों में इस दवा की कमी देखी जा रही है। महाराष्ट्र में भी कोरोना महामारी को देखते हुए  रेमेडिसविर दवा की भारी कमी देखी जा रही है। मेडिकल स्टोर्स के बाहर लोगों की लंबी कतारें लगी हुई हैं। लोग  कतार लगाकर 40 से 50 किलोमीटर का सफर तय करके यह दवा लेने आ रहे हैं। कमी का फायदा उठाते हुए दुकानदार भी एमआरपी से ज्यादा दाम वसूल रहे हैं। तो कुछ इसकी कालाबाजारी कर ब्‍लैक में बेच रहे हैं। 

महाराष्ट्र के परभणी जिले में एमआरपी से अधिक दाम वसूलने पर मुंबई क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी ने एक मेडिकल स्‍टोर के मालिक समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया। बुधवार की रात इस गोरखधंधे की जानकारी मिलते ही मेडिकल स्‍टोर में एक जाल बिछाया गया और रेमडेसिविर की शीशी अधिक मूल्‍य में बेचते हुए आरोपी को रंगे हाथों पकड़ा गया। 

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021