मुंबई, राज्य ब्यूरो। Coronavirus. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में कोविड-19 पीड़ितों की बढ़ती संख्या के कारण स्थिति गंभीर होती दिखाई दे रही है। बड़ी चिंता सघन झोपड़पट्टियों में नए मामले सामने आने की है। इससे संक्रामक रोग के सामुदायिक प्रसार का खतरा बढ़ता जा रहा है। मुंबई में वीरवार को एक दिन में 79 व पूरे महाराष्ट्र में 229 नए मामले सामने आए। प्रदेश में अब तक कोरोना से 81 लोगों की मौत हो चुकी है।

मुंबई के झोपड़पट्टी क्षेत्र धारावी एवं वरली कोलीवाड़ा सहित 215 क्षेत्रों को रेड जोन घोषित कर दिया गया है। इन सभी क्षेत्रों की घर-घर स्क्रीनिंग की जा रही है। किसी के भी संदिग्ध पाए जाने पर उसकी टेस्टिंग की जा रही है। यह प्रक्रिया अपनाए जाने के बाद से मुंबई में कोरोना पॉजिटिव के नए मामले तेजी से बढ़ते दिखाई दे रहे हैं। पिछले 24 घंटों में महाराष्ट्र में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 25 हो चुकी है। पूरे महाराष्ट्र में रोगियों की संख्या बढ़कर 1,346 व मुंबई में 775 (54 मृतकों को मिलाकर) हो गई है। धारावी में एक और महिला की मृत्यु से इस रोग से मरनेवालों की संख्या तीन हो गई है। धारावी एवं वरली कोलीवाड़ा सहित मुंबई की अन्य झोपड़पट्टियों में एक-एक कमरे में पांच से दस लोगों के रहने एवं सार्वजनिक शौचालयों के इस्तेमाल के कारण संक्रामक रोग के प्रसार का खतरा अधिक है।

प्रशासन ने इस स्थिति को टालने के लिए सघन जांच अभियान चलाने का निर्णय किया है। धारावी के पास राजीव गांधी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स एवं वरली के एनएसई ग्राउंड में आइसोलेशन वार्ड बनाकर संदिग्ध कोरोना पीड़ितों को रखने की व्यवस्था की गई है। सभी 215 रेड जोन में जांच अभियान चलाने के लिए बीएमसी की 10 टीमें गठित की गई हैं। ये टीमें घर-घर जाकर प्रारंभिक स्क्रीनिंग कर रही हैं। इन टीमों की स्क्रीनिंग में कोरोना संदिग्ध पाए जाने पर उन्हें आगे की जांच के लिए निर्धारित 10 में से किसी एक अस्पताल में भेजा जाता है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को ही स्पष्ट कर दिया था कि मुंबई में जांच का दायरा बढ़ाए जाने के कारण नए रोगियों की पहचान बेहतर ढंग से हो पा रही है।

रोगियों की बढ़ती संख्या एवं नागरिकों की लापरवाही को देखते हुए मुंबई में अब सब्जियों की दुकानें सप्ताह में सिर्फ दो दिन सोमवार एवं गुरुवार को सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक खोलने का निर्णय किया गया है। इसके अलावा किसी दिन दुकानें खोलने वाले दुकानदार पर कार्रवाई की जाएगी। बीएमसी आयुक्त द्वारा यह निर्णय राज्य मंत्रिमंडल में लॉक डाउन का ठीक से पालन न होने पर चिंता जताए जाने के बाद लिया गया है। बीएमसी एक दिन पहले ही बिना मास्क के बाहर निकलनेवालों पर सख्त कार्रवाई की घोषणा कर चुकी है।

महाराष्ट्र की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस