मुंबई, एएनआइ। Coronavirus: महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 61695 नए ​​मामले सामने आए, 53335 रिकवर हुए और 349 मौतें हुईं हैं। इस बीच, मुंबई में कोरोना के 8217 नए मामले सामने आए, 49 मौतें हुईं और 10097 रिकवर हुए। सक्रिय मामलों की संख्या 85,494 है। वहीं, नागपुर में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 5813 नए मामले सामने आए, 74 मौतें हुुईं और 4634 रिकवर हुए। यहां कुल मामले 2,99,849 हैं। कुल 2,32,705 रिकवर हुए। सक्रिय मामले: 61,110 हैं। कोरोना से अब तक 6034 की जान गई है। इधर, पुणे में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 9956 नए मामले सामने आए, 8175 रिकवर हुए और 114 मौतें हुई हैं। यहां सक्रिय मामले 98,859 हैं। कुल मामले 6,85,970 हैं। कुल 5,76,177 रिकवर हुए। कोरोना से 11,103 की मौत हुई है।प्रदेश के कई जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं।

इससे पहले महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार ने राज्य में बुधवार रात आठ बजे से कर्फ्यू लगा दिया था। इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सार्वजनिक गतिविधियों पर पूरी रोक रहेगी। सरकार ने राज्य में कोरोना के बदतर होते हालात को देखते हुए यह फैसला किया। महाराष्ट्र के हालात को देखते हुए लॉकडाउन लगाने की आशंकाएं जताई जा रही थीं। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इंटरनेट मीडिया के जरिए राज्य के लोगों को संबोधित करते हुए पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा तो नहीं की, लेकिन 15 दिनों के लिए कर्फ्यू लगाने का एलान किया। बुधवार की रात आठ से कर्फ्यू प्रभावी हो गया है और एक मई की सुबह सात बजे तक जारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि 'लॉकडाउन जैसी' पाबंदियों के लगे रहने तक पूरे राज्य में सीआरपीसी की धारा 144 भी लागू रहेगी। इसके तहत सार्वजनिक स्थान पर पांच या उससे ज्यादा लोगों के एक साथ जमा होने पर रोक है। हालांकि, मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में लॉकडाउन शब्द का इस्तेमाल नहीं किया। उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ एक बार फिर युद्ध शुरू हो गया है। महामारी के चलते राज्य की स्वास्थ्य सुविधाओं पर दबाव बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि एक महीने के लिए हर गरीब और जरूरतमंद को राज्य सरकार तीन किलोग्राम गेहूं और दो किलोग्राम चावल देगी। उन्होंने केंद्र सरकार से ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की सप्लाई बढ़ाने की भी अपील की। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021