मुंबई, एएनआइ। Best Workers Strike मायानगरी मुंबई में अपनी तमाम मांगों को लेकर बेस्ट के कर्मचारी मंगलवार सुबह से हड़ताल पर हैं। जिससे मुंबई की रफ्तार पर आज बे्रक लग सकती है।   

मिली जानकारी के अनुसार, कुल 30500 कर्मचारी इस हड़ताल में शामिल हैं। बेस्ट कर्मचारियों की इस हड़ताल को औद्योगिक न्यायालय ने अवैध बताया है। बीएमसी प्रशासन ने साफ किया है कि हड़ताल करने वालों पर मेस्मा (महाराष्ट्र एसेंशियल सर्विसेज) के तहत कार्रवाई होगी।

दो हजार करोड़ के कर्ज में डूबी बेस्ट को बीएमसी ने अब बेस्ट को पैसे देने से इंकार कर दिया है। जिसकी वजह से बेस्ट कर्मचारियों के वेतन पर संकट आ गया है। सोमवार को हुई बेस्ट और बीएमसी की बैठक में कोई निष्कर्ष न निकलते देख आज फिर बैठक हो सकती है। 

बेस्ट वर्कर्स यूनियन के महासचिव शशांक राव ने कहा कि हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है इसीलिए यह हड़ताल हमने जारी रखने का फैसला किया है। हड़ताली कर्मचारी 2016 में खत्म हुए कांट्रेक्ट को बढ़ाने, प्राइवेट बसों को किराए पर लेने पर रोक और ग्रेच्युटी सहित वेतन संबंधित दूसरी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं।    

हड़ताल की वजह से आम लोगों को अपने गंतव्यों तक पहुंचने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोग ऑटो और प्राइवेट बसों का सहारा ले रहे हैं। ऑटो वाले मनमानी कर जनता को परेशान न करें इसके लिए मुंबई पुलिस खुद ऑटो रूकवाकर लोगों को बिठा रही है। 

 

Posted By: Babita

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप