भोपाल, जागरण नेटवर्क। मध्य प्रदेश के इंदौर में सात साल की मासूम बच्ची माहिनूर उर्फ मायरा की हत्या (Mahenoor Murder Case) से पूरे शहर के लोगों का दिल सहम गया है। मासूम बच्ची के पड़ोस में रहने वाले सद्दाम ने ही उसे अगवा कर चाकू से छलनी कर दिया। पुलिस (Indore Police) ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। पहले तो उसने पुलिस के सामने पागलपन का दिखावा किया। मगर इसके बाद जो उसने खुलासा किया है उसे सुनकर पुलिस वाले भी दंग रह गए। 

घर के बाहर से बच्ची को किया अगवा

इंदौर के आजाद नगर एसीपी (आइपीएस) मोतीउर रहमान के मुताबिक, आरोपित ने शुक्रवार को पागलपन का दिखावा कर पुलिस को गुमराह किया। शनिवार सुबह उसने अपना जुर्म कबूल लिया और हैरतअंगेज खुलासे किए। आरोपित ने बताया कि वह 7 साल की माहिनूर को पसंद करता था। कई दिनों से वह बच्ची को अगवा करने की फिराक में था। शुक्रवार सुबह घर के बाहर खेलने के दौरान उसे यह मौका मिल गया। बच्ची की नानी ने उसे छुड़ाने की कोशिश की लेकिन धक्का मुक्की कर वह बच्ची को लेकर भाग गया।

बच्ची के छुड़ाने लोगों की लगी भीड़ 

आरोपित ने बताया कि वह घर तो चला गया लेकिन उसके पीछे लोगों की भीड़ आ गई और दरवाजा बजाना शुरू कर दिया। लोग बच्ची को उसके चंगुल से छुड़ा कर ले जाते इस डर से उसने बच्ची पर चाकू से हमला कर दिया। उसने मासूम के हाथ की नस काट दी और शरीर पर कई जगह वार किए। जैसे-जैसे लोग दरवाजा खुलवाने के लिए आवाज लगाते वैसे-वैसे ही बच्ची को चाकू मारता गया। उसने बच्ची के पूरे शरीर को ही छलनी कर डाला। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डाक्टर ने बच्ची के शरीर पर 33 घावों की पुष्टि की है।

यह भी पढ़ें- MP News: 10 हजार सैलरी, 4 पत्नियां, 16 लाख का गबन और अथाह संपत्ति, हेरा फेरी का उस्ताद निकला मंत्री की गैस एजेंसी का मैनेजर

सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हुई आरोपित की हरकतें

पुलिस ने घटनास्थल के आसपास से सीसीटीवी फुटेज की जांच की जिसमें दिखा कि आरोपित काफी देर से बच्ची को अगवा करने के फिराक में था। वह बच्ची के नाना के घर से थोड़ी दूर बैठा हुआ था। बच्ची जैसे ही टहलते हुए घर से आगे गई आरोपित उसे उठा कर ले गया।

पुलिस ने तोड़ा आरोपित का मकान

इधर, बच्ची की हत्या के बाद लोगों का आक्रोश देखने को मिला। लोगों ने थाना के बाहर पथराव भी किए। आरोपित के खिलाफ त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस और नगर निगम ने उसका मकान जमींदोज कर दिया। घटना को लेकर एसीपी ने बताया कि सीसीटीव फुटेज अपहरण और हत्या मामले में अहम साक्ष्य हैं। पुलिस ने विस्तृत पूछताछ के लिए कोर्ट से आरोपित का एक दिन का रिमांड मांगा है।

वहीं, डीसीपी जोन-1 अमित तोलानी ने बताया कि सात दिन के भीतर विवेचना पूर्ण करना तय किया है। इस प्रकरण को चिह्नित अपराधों में शामिल किया है। आरोपित के विरुद्ध भौतिक साक्ष्यों के साथ वैज्ञानिक साक्ष्य भी जुटाए हैं ताकि कड़ी सजा मिल सके।

दस महीने पहले ही हुई थी मां की मौत

माहेनूर उर्फ़ मायरा के स्वजन ने दस महीने पहले ही उसकी मां की मौत हो गई थी। मां की मौत के बाद मायरा अपने नाना के पास रहने आई थी।

यह भी पढ़ें- Morena Crime News: मुरैना में कोचिंग जा रही तीन चचेरी बहनों से दुष्‍कर्म, अश्‍लील फोटो वायरल करने की दी थी धमकी

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट