ग्वालियर, जेएनएन। ओएलएक्स पर विज्ञापन देखकर पुरानी कार खरीदने के लिए गया एक सब इंस्पेक्टर और पत्नी लेकर आ गया। बाद में जब हकीकत सामने आई तो दोनों के बीच तलाक की नौबत आ गई। अब यह मामला कुटुंब न्यायालय में चर्चा का केंद्र बना हुआ है। घटना मध्य प्रदेश के ग्वालियर की है। ग्वालियर में पदस्थ एक सब इंस्पेक्टर ओएलएक्स पर पुरानी कार खरीदने की पोस्ट देखकर उस स्थान पर पहुंचा तो उसे कार तो नहीं मिली, मगर उसकी मुलाकात एक युवती से हो गई। युवती ने सब इंस्पेक्टर को बताया कि कार कहीं बाहर गई है। इसके बाद सब इंस्पेक्टर जब लौटने लगा तो युवती ने उससे लिफ्ट मांगी। रास्ते में दोनों के बीच बातचीत हुई। इस दौरान युवती और सब इंस्पेक्टर ने एक-दूसरे को अपना मोबाइल नंबर भी दे दिया। इसके बाद दोनों के बीच बातचीत होने लगी।

इसलिए हुई तकरार

जुलाई 2019 में दोनों ने आर्य समाज में शादी कर ली। शादी के करीब तीन माह बाद सब इंस्पेक्टर को पता चला कि उसकी पत्नी पहले से ही शादीशुदा है। पहले पति से उसका करीब आठ साल का बच्चा भी है। इसको लेकर दोनों के बीच कहासुनी होने लगी। महिला का पूर्व पति उसे तलाक का अर्जी दे चुका है। अब सब इंस्पेक्टर पति ने महिला को तलाक की अर्जी दी है। कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई के बाद महिला को नोटिस जारी किया है। तलाक के आवेदन में सब इंस्पेक्टर ने लिखा कि जब हम पहली बार मिलने तो युवती ने अपना जो उपनाम बताया वह मेरी ही जाति का था। तब मुझे यह लगा कि परिवार और रिश्तेदारी में कोई परेशानी नहीं आएगी। वहीं, महिला ने सब इंस्पेक्टर पति के खिलाफ दहेज प्रताड़ना, घरेलू हिंसा व भरण पोषण का केस दायर किया है। ग्वालियर में कुटुंब न्यायालय के अधिवक्ता अनिल शर्मा ने बताया कि विवाह से पहले युवती ने पूरी जानकारी नहीं बताई। यह विवाह धोखे से किया गया है। कोर्ट में तलाक का आवेदन दिया गया है। इस पर अगली सुनवाई नवंबर में होने की संभावना है।

यह भी पढ़ेंः पति ने घर में शौचालय बनवाया, तब पत्नी ने वापस लिया तलाक का केस

Edited By: Sachin Kumar Mishra