श्‍योपुर, जागरण आनलाइन डेस्‍क। जिंदगी में एक वक्‍त ऐसा आता है जब इंसान अपनी जमा-पूंजी अपने किसी चहेते के नाम कर देता है। आमतौर पर जायदाद परिवार के सदस्‍यों अधिकतर बेटा या बेटी को ही हस्‍तांतरित होता है। लेकिन कई बार लोग अपना सब कुछ ईश्‍वर के प्रति न्‍यौछावर कर देते हैं। एक ऐसा ही किस्‍सा हम आपको बताने जा रहे हैं, जहां एक महिला ने अपनी पूरी संपत्ति भगवान के नाम कर दी।

यह वाक्‍या राज्‍य के श्‍योपुर जिले (Sheopur) के विजयपुर से सामने आया हैं। दरअसल, ग्राम खितरपाल में स्थित शासकीय माध्यमिक विद्यालय में पढ़ाने वाली एक शिक्षिका ने एसडीएम शर्मा को आवेदन देकर अपना सबकुछ छिमछिमा हनुमान मंदिर ट्रस्ट (Chimchima Hanuman Mandir Trust) के नाम करने का उल्लेख किया है।

Viral Video: छोटी बच्ची ने इस अंदाज में गाया भगवान हनुमान जी का भजन, जीत लिया सोशल मीडिया पर लोगों का दिल

दोनों बेटोंं को लिख दिया उनका हिस्‍सा

बता दें कि महिला शादीशुदा हैं और परिवार में उनके दो बेटे हैं। आवेदन में इनका जिक्र करते हुए महिला ने लिखा है कि मैंने उन्हें उनके अधिकार का हिस्सा सौंप दिया है। शिक्षिका शिवकुमारी ने अपनी वसीयत में लिखा है कि मेरे मरने के बाद मेरा मकान और चल-अचल संपत्ति मंदिर ट्रस्ट की होगी।

उन्‍होंने बैंक-बैलेंस और जीवन बीमा पालिसी से मिलने वाली राशि से लेकर सोना-चांदी तक मंदिर ट्रस्ट को दे दिया है। इतना ही नहीं, वह जब तक जिएंगी, तब तक मकान में रहेंगी और उनके बाद मकान मंदिर ट्रस्ट का हो जाएगा, ऐसा उन्होंने अपनी वसीयत में लिख कर दिया है।

मोह-माया में पड़ने के डर से लिया फैसला

शिवकुमारी जादौन (Shivkumari Jadon) रोज समय से स्कूल पहुंच कर बच्चों को पढ़ाती हैं। शिवकुमारी ने बताया कि वह ईश्वर से बहुत प्रेम करती हैं, सुबह से लेकर रात तक वह भगवान का स्मरण करती हैं। पूजा-पाठ करना उनके जीवन का सबसे अहम हिस्सा बन गया है। उनका कहना है कि वह मोह-माया में न पड़ जाएं, इसलिए जीवन भर की पूंजी को हनुमान मंदिर ट्रस्ट के नाम करने का फैसला लिया है।

Dindori News: डंडे से पीट-पीटकर पोतों ने कर दी दादा की हत्‍या, जमीन को लेकर हुआ था विवाद

Edited By: Arijita Sen

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट