इंदौर, जेएनएन। इंदौर में आरोपित एक महिला को लेकर ज्योतिष के घर में गए और गृह नक्षत्रों के हिसाब से अंगूठी बनाने की चर्चा की। इस दौरान देख लिया कि दिन के वक्त घर में सिर्फ महिलाएं ही रहती है। उसने यह भी सुना था कि ज्योतिष का परिवार पैसा वाला है। घर में नौ करोड़ रुपये रखे हुए है। वह अंगूठी बनवाने के नाम पर उनके घर रैकी करने पहुंचा था। बाद में ज्योतिषाचार्य के यहां 9 करोड़ रुपए होने की जानकारी जुटाकर खजराना के बदमाश सागिर के जरिए राजस्थान के बदमाशों को बुलाकर दिनदहाड़े डकैती की वारदात की थी।

इंदौर के ज्योतिष स्व.पं. जयप्रकाश वैष्णव के घर डकैती करने के पहले रैकी हुई थी। एक बदमाश अंगूठी बनवाने के बहाने उनके घर में गया था। उसने नौ करोड़ रुपये होने की बात सून ली और राजस्थान के बदमाशों को बुला कर डकैती करवा दी। पुलिस ने मास्टर माइंड सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पांच आरोपित पहले ही गिरफ्तार हो चुके है।

एडिशनल डीसीपी के मुताबिक 18 नवंबर 2021 को वैष्णव के परिवार को बदमाशों ने बंधक बना लिया था। आरोपितों ने डकैती के लिए साजिश करी और टोंक(राजस्थान) के गिरोह को इंदौर बुलाया। पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपित एक महिला को लेकर ज्योतिष के घर में गए और गृह नक्षत्रों के हिसाब से अंगूठी बनाने की चर्चा की। इस दौरान देख लिया कि दिन के वक्त घर में सिर्फ महिलाएं ही रहती है। उसने यह भी सुना था कि ज्योतिष का परिवार पैसा वाला है। घर में नौ करोड़ रुपये रखे हुए है। उसने टोंक से बदमाशों की गैंग बुला ली। डकैती डालने आए बदमाश अपने साथ 6 बैग लेकर आए थे, लेकिन जब बदमाशों ने महिलाओं को बंधक बनाया और घर की तलाशी ली तो उन्हें केवल डेढ़ लाख रुपए ही हाथ लगे थे। पुलिस ने मंगलवार को राजेंद्र पुत्र मदनलाल पाटीदार निवासी गुरुनानक मार्ग सोनकच्छ और सगीर पुत्र मोहम्मद सफी निवासी श्रीनगर को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के मुताबिक सगीर नल फिटिंग का काम करता है। उसने खजराना में रहने वाले चाचा के घर बदमाशों को रुकवाया था। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज से कड़िया जोड़ी और खजराना तक जा पहुंची। इसके बाद टोंक में उनके ठिकानों को भी ट्रेस कर लिया। पुलिस इस मामले में पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी थी।

Edited By: Priti Jha