भोपाल, ऑनलाइन डेस्क। शताब्दी एक्सप्रेस जैसी प्रीमियम ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों को वेंडर से चाय पीना महंगा साबित हो सकता है। राजधानी दिल्ली से भोपाल के बीच चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस में सफर करने वाले यात्रियों के साथ ऐसा ही एक मामला सामने आया है।

दरअसल, शताब्‍दी एक्‍सप्रेस में सफर कर रहे एक यात्री को 20 रुपये की चाय के बदले 70 रुपये चुकाने पड़े। आइआरसीटीसी द्वारा यात्री से चाय सर्व करने के रूप में 50 रुपये सर्विस चार्ज के रूप में वसूला गया था। यात्री ने चाय का बिल इंटरनेट मीडिया पर शेयर किया, जिसके बाद यूजर्स पर इस पर तरह-तरह के कमेंट्स दे रहे हैं।

दरअसल, यदि कोई व्यक्ति राजधानी, शताब्दी, दुरंतो एक्‍सप्रेस जैसी ट्रेन में पहले से बुकिंग नहीं कराता है और वह यात्रा के दौरान भोजन या चाय-काफी आदि की डिमांड करता है तो उसे इसकी सप्लाई की जाएगी। लेकिन हर आर्डर पर यात्री को 50 रुपये सर्विस चार्ज के रूप में अतिरिक्त चुकाने होंगे। राजधानी दिल्ली में रहने वाले पत्रकार दीपक कुमार झा ने रेलवे से जुड़ा एक ट्वीट किया, इसमें उन्‍होंने आइआरसीटीसी की दो कैशमेमो की इमेज पोस्ट करते हुए लिखा - 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का ... कुल मिलाकर 70 रुपये की एक चाय...है ना कमाल का लूट..।

हालांकि यहां पर वह सर्विस चार्ज की जगह जीएसटी का जिक्र करने की भूल कर बैठे। 28 जून को यह घटना हुई है और इंटरनेट मीडिया पर उनकी यह पोस्‍ट वायरल हो गई और लोग इस पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा- क्‍या चाय पेट्रोलियम पदार्थ है, जो इतना भारीभरकम टैक्‍स। वहीं एक अन्‍य यूजर ने कहा- अब तो चाय बनाके थर्मस में लाएंगे। किसी ने लिखा- क्‍या यही आइआरसीटीसी का विकास मंत्र है? 

वहीं, इस बाबत जब रेलवे के अधिकारियों से बात की गई तो उनका कहना था कि जून 2018 में ही रेलवे बोर्ड के टूरिज्म एंड कैटरिंग डाइरेक्टरेट ने इसके लिए एक सर्कुलर जारी किया था।

इसमें स्‍पष्‍ट रूप से कहा गया है कि यदि कोई व्यक्ति राजधानी, शताब्दी, दुरंतो एक्‍सप्रेस जैसी ट्रेन में पहले से बुकिंग नहीं कराता है और वह यात्रा के दौरान भोजन या चाय-काफी आदि की डिमांड करता है तो उसे इसकी सप्लाई की जाएगी। लेकिन हर आर्डर पर यात्री को 50 रुपये सर्विस चार्ज के रूप में अतिरिक्त चुकाने होंगे।

Edited By: Pradeep Chauhan