पन्ना, जेएनएन। Madhya Pradesh: कई बार लोग सोचते हैं कि उन्हें पड़ी हुई कोई कीमती चीज मिल जाए तो उनका जीवन बदल जाए। उनके निराश जीवन में भी रौनक आ जाए। मगर ये सभी के साथ नहीं होता है। धरती पर कुछ ही ऐसे खास लोग हैं जिनको ऐसी चीजें मिलती हैं और उनके जीवन में बदलाव आता है।

मध्यप्रदेश के पन्ना जिले की रत्नगर्भा धरती ने गृहलक्ष्मी को आज मालामाल कर दिया है। हीरा की खदानों के लिए प्रसिद्ध पन्ना जिले की उथली खदान से इस महिला को 9.64 कैरेट वजन का बेशकीमती हीरा मिला है जिसकी अनुमानित कीमत 40 लाख रुपए से अधिक की आंकी जा रही है। यह नायाब हीरा मीना देवी पति राणा प्रताप सिंह निवासी नोयडा को खदान भरका गाव सिरस्वहा के अंतर्गत हीरा में मिला है।

महज 6 महीने की मशक्कत के बाद मेला बेशकीमती हीरा

हीरा मिलने के साथ ही गृह लक्ष्मी वास्तव में मालामाल हो गई। इस नायाब हीरे की अनुमानित कीमत लाखों रुपए मैं आंकी जा रही है। हीरा धारक के पति राणा प्रताप सिंह जिन्होंने अपनी पत्नी के नाम से खदान का पट्टा लिया था जिनके द्वारा हीरा मिलने पर मंगलवार को नियमानुसार कलेक्ट्रेट स्थित हीरा कार्यालय में आकर जमा कर दिया है। इस हीरे को आगामी होने वाली नीलामी में विक्रय के लिए रखा जायेगा।

हीरा कार्यालय पन्ना के हीरा पारखी अनुपम सिंह ने बताया कि नोएडा निवासी श्रीमती मीना देवी के नाम खदान का पट्टा निर्धारित शुल्क जमा सिरस्वहा में हीरे की खदान को स्वीकृत कराई थी। खदान संचालन के महज 6 महीने बाद ही उक्त महिला को 09.64 कैरेट वजन का बेशकीमती हीरा मिला है, जो जेम क्वालिटी का है।

हीरा पारखी ने बताया कि जमा हुए इस हीरे को आगामी नीलामी में बिक्री के लिए रखा जायेगा। बिक्री से प्राप्त राशि में से शासन की रायल्टी काटने के बाद शेष राशि हीरा धारक को प्रदान की जाएगी। हीरे की अनुमानित कीमत पूंछे जाने पर हीरा पारखी ने बताया कि हीरा जेम क्वालिटी का है जिसकी अच्छी कीमत मिलने की उम्मीद है, लेकिन अभी उसकी कीमत नहीं बताई जा सकती।

यह भी पढ़ें- Rajasthan News: पृथ्वी पर पहला वट वृक्ष लेकर आई थीं माता पिपलाज, पाकिस्तान से भी है नाता, पढ़िये पूरी कहानी

अचानक ही यहां पर कब किसकी किस्मत चमक जाये

गौरतलब है कि पलक झपकते ही रंक से राजा बनने का चमत्कार यदि कहीं घटित होता है तो वह रत्नगर्भा पन्ना जिले की धरती है। इस धरती की यह खूबी है कि अचानक ही यहां पर कब किसकी किस्मत चमक जाये कुछ कहा नहीं जा सकता। ऐसा ही अभी हाल मैं देखने को मिला है कि बीते कुछ सप्ताह में दर्जन भर से अधिक लोगों को बहुमूल्य हीरे मिले हैं जो उनके द्वारा हीरा कार्यालय में जमा किए गए हैंl

Gujrat: राघव चड्ढा बोले- गुजरात के लोग अब सिर्फ तीन चीजें चाहते हैं, 'परिवर्तन-परिवर्तन और परिवर्तन'

Edited By: Vinay Kumar Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट